नोएडा : महिलाओं को चकमा देकर उनके जेवरात लूटने वाले गिरोह का पर्दाफाश,8 गिरफ्तार

 

रिपोर्ट : नितिन चौधरी

पुलिस ने एक ऐसे गिरोह का पर्दाफाश किया है जो सुबह को कंपनी में ड्यूटी जाती महिलाओ व घरों में जाकर उनको अपनी बातों में फंसाकर उनके जेवरात दुगने करने के नाम पर ठगी करके फरार हो जाते थे। पुलिस ने इनके पास से लाखों रुपए की सोने व चांदी की ज्वेलरी सहित नगदी बरामद की है। वही इन 8 सदस्यीय गिरोह को पकड़ने वाली पुलिस टीम को 25 हजार रुपए का इनाम भी दिया है। शुरूआती जांच में सामने आया है कि एनसीआर में सैकड़ो ऐसी घटनाओं को अंजाम दिया है और इनमें से अभी तक कोई पकड़ा नही गया। राजधानी दिल्ली से सटे जनपद गौतमबुद्ध नगर में महिलाओं के साथ धोखाधड़ी से जेवरात उतारवाकर टप्पेबाजी का अपराध की घटनाओं की रोकथाम व घटना अनावरण व घटना में संलिप्त अपराधियों की गिरफ्तारी के लिए पुलिस टीम द्वारा आज दोपहर करीब एक बजे एक बजे महिलाओं के साथ धोखाधडी से जेवरात उतारवाकर टप्पेबाजी करने वाले गैंग (दो सुनार सहित) आठ अभियुक्तों को गिरफ्तार किया गया जिनके कब्जे से भारी मात्रा में महिलाओं के साथ की गयी घटनाओं से सम्बन्धित सोने व चांदी के जेवरात, मोबाईल फोन, एक जैन कार व एक वेगनार कार, 13,198/- रू० नकद बरामद किये है।

अपराधियों के कब्जे से भारी मात्रा में जेवरात बरामद

अभियुक्तगण हामिद व हामिद का लड़का अफरोज, साहिब व नाजुर खान व अब्बास व मोहम्मद शाहिद सभी मिलकर दिल्ली एनसीआर में सुबह कम्पनी में ड्यूटी जाते समय व मॉर्निंग वाक करते समय महिलाओं के साथ धोखाघडी से पहने जेवरातो तांत्रिक विद्या के माध्यम से दो गुना करने देने की बात को कहकर और जेवरात उतरवाकर अपने कब्जे में लेकर और महिलाओं को 20 कदम आगे आँख बन्द कर चलने का बोलकर मौके से महिलाओं के जेवरात चोरी कर फरार हो जाते हैं, जिसमें जैन कार नम्बर डीएल/सीएच-2416 घटना वैगगार कार नम्बर डीएल9सी-क्यूएस-4862 को इस्तेमाल करते हैं।

चोरी किये जेवरातों को गाजियाबाद के सुनार सचिन वर्मा को बेचते थे

पूछताछ में आरोपियों ने बताया कि चोरी किये जेवरातों को गाजियाबाद के सुनार सचिन वर्मा व प्रज्वल वर्मा को अलग-अलग इनकी दुकानों पर जाकर व आधे व पीने दामों में बेच देते हैं, दोनो सुनार सचिन वर्मा प्रज्वल वर्मा की गिरफ्तारी चोरी की जैवरात खरीदने के सम्बन्ध में की गयी है। डीसीपी राजेश एस. ने बताया कि ये गैंग एनसीआर में लगभग 06 वर्ष से सक्रिय है और कई दर्जनों घटनाओं को अबतक अंजाम दे चुकी है। गैंग द्वारा की गयी घटनाओं को टप्पेबाजी के नाम से जाना जाता है और आरोपियों अब्बास व मोहम्मद शाहिद वैगनआर व जैन कार के ड्राईवर है। सभी आठो अपराधियों के कब्जे से भारी मात्रा में महिलाओं के साथ की गयी चोरी की घटनाओं के जेवरात, मोबाईल फोन, पर्स आदि सामान बरामद हुये है। वही वृद्ध महिलाओं को मन्दिरों के आस पास व कम्पनियों के आस-पास महिलाओं को टारगेट कर घटनाओं को अंजाम देते थे।

 

 

Comments are closed.