पाकिस्तान की जेल में बंद है पांच माह पूर्व नोएडा से लापता छात्र

नोएडा के सेक्टर-125 स्थित एक बिजनेस स्कूल से कर रहा था एमबीए

नोएडा। लगभग पांच माह पहले नोएडा में लापता एक छात्र बासिद हसन पाकिस्तान की जेल में बंद है। बासिद ने इस बाबत खत अपने साथ जेल में बंद एक अन्य युवक के जरिये भेजा है। इस पत्र की राइटिंग को पहचान कर कश्मीर निवासी उसके पिता अपने बेटे की पहचान की है। अब उसने नोएडा पुलिस से बेटे को पाकिस्तानी जेल से आजाद कराने की गुहार लगाई हैं। यहां इस बात का उल्लेख जरूरी है कि बासिद की गुमशुदगी की रिपोर्ट नोएडा के एक्सप्रेस वे थाना और कश्मीर के बांदीपोरा थाना में दर्ज है।

जानकारी के मुताबिक कश्मीर के बांदीपोरा निवासी सैयद बासिद हसन (22) नोएडा के सेक्टर-125 स्थित एशियन बिजनेस स्कूल में एमबीए का छात्र था। बासिद के पिता सैयद नसीरुल हसन कश्मीर पुलिस में दरोगा के पद पर तैनात हैं। बासिद सेक्टर-126 स्थित रायपुर गांव के एक पीजी में रहता था। 12 दिसंबर को कालेज की छुट्टी के बाद दिल्ली में रहने वाले अपने एक रिश्तेदार के पास गया था। वहां से 12 दिसंबर को ही यह कहकर बासिद निकला था कि 13 दिसंबर को उसका एग्जाम है। उसके बाद से ही वह लापता हो गया। इस मामले में उसके पिता नसीरुल हसन ने नोएडा के एक्सप्रेस वे और कश्मीर के बांदीपोरा थाने में बासिद की गुमशुदगी की रिपोर्ट दर्ज कराई थी। नोएडा पुलिस के मुताबिक 13 दिसंबर को बासिद केे फोन की लोकेशन लुधियाना में मिली थी। उसकी एक और लोकेशन अमृतसर में मिली थी बासिद ने अमृतसर के एक एटीएम से पैसे भी निकाले थे।

घटना के पांच माह बाद बासिद ने एक पत्र भेजकर अपने को पाकिस्तान की जेल में बंद होने की जानकारी दी है। पत्र मेंं उसने लिखा है कि वह पाकिस्तान की जेल में बंद है। पत्र में उसने अपने परिजनों के नाम और पता सही लिखा है। यह पत्र उसने पाकिस्तान की जेल में बंद एक युवक के साथ भेजा है।

बासिद किन परिस्थितियों में पाकिस्तान पहुंचा, इस बारे में अभी कुछ भी साफ नहीं है। बताया जाता है कि वह एक माह की वीजा पर पंजाब से वह बस के जरिये पाकिस्तान गया था। वीजा की अवधि खत्म होने पर उसे गिरफ्तार किया गया। यह भी कहा जा रहा है कि वह सेमेस्टर एग्जाम में फेल होने से दुखी था। इसलिए वह पाकिस्तान चला गया।

एसएसपी वैभव कृष्ण ने बताया कि लापता छात्र के पिता ने बेटे के पाकिस्तान की जेल में बंद होने की जानकारी दी है। छात्र किन परिस्थितियों में पाकिस्तान गया, इस बारे में अमृतसर पुलिस से जानकारी मांगी गई है।

Leave A Reply