नोएडा पुलिस के खिलाफ सडक़ पर उतरे किसान,मुकदमे वापस करने की मांग

एडीसीपी ने मुकदमे वापस लेने का आश्वासन दिया था

अभिषेक ब्याहुत 

नोएडा: नोएडा जोन पुलिस की वादाखिलाफी से नाराज 81 गांव के किसान सडक़ पर उतरे और नोएडा जोन एडीसीपी रणविजय सिंह का घेराव किया। किसानों का कहना है कि प्राधिकरण की नीतियों के खिलाफ किसानों ने 122 दिन तक सेक्टर 6 स्थित प्राधिकरण कार्यालय पर प्रदर्शन किया। इस दौरान पुलिस ने किसानों पर 11 मुकदमे दर्ज किए थे। बाद में एडीसीपी ने मुकदमे वापस लेने का आश्वासन दिया था। लेकिन आज तक मुकदमे वापस नहीं लिए गए हैं।
भारतीय किसान परिषद के राष्ट्रीय अध्यक्ष सुखबीर खलीफा ने कहा कि पूर्व में धरना-प्रदर्शन समाप्त कराने को नोएडा प्राधिकरण पर सांसद डा.महेश शर्मा और नोएडा विधायक पंकज सिंह पहुंचे थे। उन्होंने किसानों की सभी मांगों को पूरा करने का वादा कर धरना समाप्त कराया था। उसी समय सांसद और विधायक के सामने ही पुलिस की ओर से मौके पर मौजूद एडीसीपी रणविजय सिंह ने किसानों पर दर्ज सभी मुकदमे वापस लेने का वादा किया था। छह माह बीतने के बाद भी नोएडा के 81 गांवों के किसानों पर दर्ज मुकदमे पुलिस प्रशासन ने वापस नहीं लिए है। उन्होंने बताया कि पुलिस प्रशासन की इस वादाखिलाफी से नाराज 81 गांवों के किसान हरौला सेक्टर-पांच के बरातघर में जुटे और एडिशनल डीसीपी कार्यालय की ओर से कूच किया। किसानों ने एडिशनल डीसीपी रणविजय सिंह को ज्ञापन सौंपा। सभी किसानों ने पुलिस प्रशासन को 15 दिन में सभी मुकदमे वापस लेने का समय दिया है। यदि यह मुकदमे 15 दिन में वापस नहीं हुए तो नोएडा के किसान पुलिस प्रशासन के खिलाफ बड़ा आंदोलन करेंगे।

Comments are closed.