पढ़ाई हो या प्रतियोगिता, दिमाग मजबूत तो सब आसान- मीराबाई चानू

मीराबाई चानू ने कहा कि पढ़ाई हो या प्रतियोगिता उससे पहले हम पहले दबाव महसूस करते हैं लेकिन हमें अपने दिमाग को मजबूत बनाने की जरूरत है।

नोएडा: ग्रेनो में नॉलेज पार्क स्थित केसीसी इंस्टीट्यूट ऑफ लीगल एंड हायर एजुकेशन में शनिवार को टोक्यो ओलंपिक में रजत पदक विजेता मीराबाई चानू के साथ विचार गोष्ठी का आयोजन किया गया। मीराबाई चानू ने कहा कि पढ़ाई हो या प्रतियोगिता उससे पहले हम पहले दबाव महसूस करते हैं लेकिन हमें अपने दिमाग को मजबूत बनाने की जरूरत है।

उन्होंने दबाव को भूलने के लिए अपने प्रशिक्षण व लक्ष्य पर फोकस करने की जरूरत है। उनका कहना है कि टोक्यो में पदक जीतने के बाद सबसे पहले अपनी मां को फोन किया। उन्होंने कहा क्योंकि वह लगातार मेरी जीत के लिए प्रार्थना कर रही थीं। उन्होंने यह भी साझा किया कि यह उन सभी खिलाडिय़ों के लिए वास्तव में अद्भुत अनुभव था, उन्हें हमारे प्रधानमंत्री से फोन आया था। मेरा कार्यक्रम पहले दिन था, यह मेरे लिए वास्तव में अप्रत्याशित था। उन्होंने आगे कहा, अब मैं अपनी ट्रेनिंग पर ध्यान केंद्रित कर रही हूं, क्योंकि मुझे अपने आने वाले इवेंट्स पर फोकस करना है। कार्यक्रम में संस्थान की निदेशक प्रोफेसर डॉ भावना अग्रवाल के स्वागत भाषण से हुई। विचार गोष्ठी में छात्र-छात्राओं ने सवाल जवाब किए। इस दौरान कुशाग्र बिष्ट, श्रुति सिन्हा, हर्ष भारद्वाज, कनिष्क, सागर शर्मा, शगुन, अमन पवार आदि शामिल हुए।

Comments are closed.