ऑनर किलिंग:चाचा ने भतीजी के प्रेमी की ब्लेड से गला काटकर की हत्या

-पहले पिलाई शराब, फिर हत्या कर शव को हिंडन नदी में फेंका

नोएडा:थाना ईकोटेक 3 क्षेत्र के कुलेसरा गांव में ऑनर किलिंग का मामला सामने आया है। यहां चाचा ने अपनी भतीजी के प्रेमी की ब्लेड से काटकर हत्या कर दी। फिर युवक के शव को हिंडन नदी में फेंक दिया। पुलिस ने घटना का खुलासा करते हुए हत्यारोपी को गिरफ्तार कर शव को बरामद कर लिया है।

पुलिस के मुताबिक कुलेसरा गांव की संजय विहार कालोनी में कुम्हार जाति का अतुल कुमार परिवार के साथ रहता था। वह मेहनत मजदूरी करता था। अतुल का पड़ोस में रहने वाली एक युवती से प्रेम प्रसंग चल रहा था। युवती जाटव जाति से है। दोनों शादी करना चाहते थे लेकिन अलग-अलग बिरादरी से होने के कारण शादी नहीं कर पा रहे हैं। युवती का चाचा दोनों के प्रेम प्रसंग से काफी खफा था। 19 सितम्बर की रात युवती के चाचा अनिल ने अतुल को मिलने के लिए बुलाया। अनिल उसे कुलेसरा गांव के शराब के ठेके पर ले गया। जहां दोनों ने शराब पी। अनिल ने योजन के तहत अतुल को जमकर शराब पिलाई फिर उसे हिंडन के किनारे ले गया। जहां आरोपी ने ब्लेड से अतुल का गला काट दिया। इसके बाद भारी लकड़ी से उसे सिर पर हमला कर हत्या कर दी। घटना के बाद आरोपी वहां से भागकर घर चला गया।

घर नहीं पहुंचा तो मृतक के चाचा ने दर्ज कराई अपहरण की रिपोर्ट

थाना प्रभारी विनोद कुमार ने बताया कि जब अतुल अपने घर नहीं पहुंचा तो उसके चाचा सागर ने थाना ईकोटेक 3 में अनिल को नामित करते हुए उसके अपहरण की रिपोर्ट दर्ज कराई। पुलिस ने जब अनिल को हिरासत में लेकर पूछताछ की तो उसने अतुल की हत्या करना स्वीकार किया है। आरोपी ने अतुल के शव को हिंडन नदी के पास से बरामद करवाया है। शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया गया है। आरोपी से पूछताछ की जा रही है।

 

समाज में होती थी बदनामी, इसीलिए मार दिया अतुल को

पुलिस पूछताछ में हत्यारोपी अनिल ने बताया कि भतीजी के प्रेम प्रसंग के चलते उसके परिवार की समाज में काफी बदनामी हो रही थी। कई बार उसने अतुल को समझाया था की वो उसकी भतीजी का पीछा छोड़ दे। इतना ही नहीं उसने अतुल के परिजनों से भी कहा कि वो उसे समझा ले, नहीं तो अंजाम बुरा होगा। लेकिल अतुल अपनी आदत से बाज नहीं आ रहा था। जिसके चलते उसके परिवार का समाज में रहना मुश्किल हो रहा था। बस इज्जत की खातिर उसने अतुल की हत्या की है।

Comments are closed.