परिवहन विभाग में 50 फीसदी वाहन मालिकों मोबाइल नम्बर नहीं अपडेट

परिवहन विभाग में 50 फीसदी वाहन मालिकों मोबाइल नम्बर नहीं अपडेट

नोएडा। जिले में आठ लाख 26 हजार 110 वाहन पंजीकृत हैं। इनमें से करीब 50 फीसदी वाहन मालिकों के मोबाइल नंबर परिवहन विभाग में अपडेट नहीं हैं। इसके कारण वाहन मालिकों को चालान की जानकारी नहीं मिल पाती है।

परिवहन विभाग से मिली जानकारी के मुताबिक जिले में कुल पंजीकृत वाहनों में से चार लाख 88 हजार 117 गाड़ी मालिकों के संपर्क नंबर ही अपडेट हैं। बाकी वाहन मालिकों के नंबर अपडेट नहीं हुए हैं। इनमें से बड़ी संख्या में ऐसे वाहन मालिक हैं, जिनके नंबर बदल गए हैं। वहीं, बाकी वे वाहन मालिक हैं, जिन्होंने अपने सही संपर्क नंबर परिवहन विभाग में नहीं दिए थे। एआरटीओ प्रशासन सियाराम वर्मा ने कहा कि चार पहिया, दो पहिया और तीन पहिया सभी तरह के वाहन मालिकों के नंबर अपडेट नहीं हैं। जब वे वाहन संबंधी किसी कार्य से परिवहन विभाग में आते हैं तो उनके सही नंबर दर्ज किए जाते हैं।

 

वाहन मालिकों अपने सही नंबर विभाग में पहुंचकर कराएं दर्ज

 

उन्होंने कहा कि इसके अलावा कोई ऐसी व्यवस्था नहीं है, जिसके जरिए वाहन मालिक के सही नंबर दर्ज हो सके। नंबर अपडेट न होने के कारण काफी समस्या होती है। यातायात नियम के उल्लंघन पर वाहन मालिक को चालान का पता नहीं लग पाता है। जिस व्यक्ति का मोबाइल नंबर दर्ज होता है, उसके पास चालान की जानकारी पहुंचती है। ड्राइविंग लाइसेंस नवीनीकरण, वाहन स्थानांतरण, फिटनेस आदि प्रक्रियाओं के लिए वाहन मालिक को ओटीपी नहीं मिल पाता है। इसका गलत इस्तेमाल भी हो सकता है। उन्होंने कहा कि वाहन मालिक अपने सही मोबाइल नंबर को विभाग में पहुंचकर दर्ज करा लें।

 

Comments are closed.