France: परिवार ( भाई-बहन, बाप-बेटी, माँ-बेटा) मे योन सम्बन्ध पर रोक लगाएगा फ्रांस(France), मंत्री बोले ये अनाचार का मामला है, अपने ही खून से नहीं बना सकते सम्बन्ध

Relatioship in france

France: यु तो सम्बन्ध बनाने को लोग मर्जी बताते है, चाहे वो किसी से भी योन सम्बन्ध बनाये परन्तु दोनों की सहमति होनी चाहिए बस और कुछ नहीं, ये तो बात हुवी आम देशो की फ्रांस(france ) इस मामले मे कुछ खास है. यहाँ के लोग अपने ही परिवार मे योन सम्बन्ध बना लेते है. अपने ही परिवार का अर्थ है भाई बहन से सम्भन्ध बना सकता है, माँ बेटे से और बाप बेटी से. यहाँ जिंदगी जीने की पूरी आजादी है. यही वो पहला देश है जिसने लड़की-लड़की और लड़का – लड़का के साथ सादी करने या योन सम्बन्ध बनाने को सुविकर किया.

लेकिन अब यहाँ कुछ बदलाव की लहर देखने को मिल रही है, सरकार ने अपने ही परिवार मे योन सम्बन्ध बनाने को अनाचार का मुद्दा बताया है. टैक्वेट ने AFP के साथ एक इंटरव्यू में कहा, “उम्र चाहे जो भी हो, सहमति चाहे किसी की भी हो अब france के लोगो को अपने ही परिवार मे सम्बन्ध बनाने से रोका जायेगा. ये मामला पहले समाज के नजरिये से अमान्य था परन्तु अब ये कानून के नजरए से भी अमान्य माना जायेगा की और इसके लिए सजा का प्रबंध किया जायेगा. हालांकि उन्होंने साफ कहा की चचेरे भाई बहन आपस मे शादी कर सकते है परन्तु अभी ये साफ नहीं हुवा है की कया कानून सौतेले रिश्ते मे भी सम्बन्ध बनाने पर कारगर है या नहीं.

चाइल्ड प्रोटेक्शन चैरिटी, लेस पैपिलॉन्स के चेयरमैन लॉरेंट बोएट ने मिस्टर टैक्वेट की घोषणा का स्वागत किया है। उन्होंने द टाइम्स को बताया, “अनाचार सामाजिक रूप से प्रतिबंधित है, लेकिन कानूनी रूप से प्रतिबंधित नहीं है जबकि दोनों का एक साथ होना आवश्यक है।” बता दें कि 1791 में, अनाचार, ईशनिंदा और सोडोमी को फ्रांसीसी दंड संहिता से अपराध की श्रेणी से हटा दिया गया था। उनका मानना था कि अगर कोई पीड़ित नहीं है तो वह अपराध नहीं है।

उल्लेखनीय है कि राष्ट्रपति इमैनुएल मैक्रॉन पिछले साल जनवरी में उस समय सुर्खियों में आ गए थे, जब उन्होंने एक किताब के प्रकाशन के बाद अनाचार पर नियमों को कड़ा करने का आह्वान किया था। इसमें एक शीर्ष फ्रांसीसी राजनीतिक टिप्पणीकार पर अपने सौतेले बेटे को गाली देने का आरोप लगाया गया था। ओलिवियर डुहामेल ने स्वीकार किया कि उन्होंने 1980 के दशक में किशोर लड़के के साथ दुर्व्यवहार किया था, लेकिन फ्रांसीसी क़ानून की सीमाओं के कारण उन पर कभी मुकदमा नहीं चलाया गया। बीते साल फ्रांस ने रेप की घटनाओं पर अंकुश लगाने के लिए भी कानून में बड़ा बदलाव किया था। इसके अनुसार 15 साल के कम उम्र की लड़की के साथ यौन संबंध बनाना रेप माना जाएगा।

Comments are closed.