पीएफआई के दो संदिग्ध सदस्य बुलंदशहर से गिरफ्तार

-एक संदिग्ध को एसडीएम कोर्ट के आदेश पर देर शाम रिहा कर दिया गया

बुलन्दशहर। उत्तर प्रदेश के जनपद बुलंदशहर में आज लखनऊ एटीएस ने स्थानीय पुलिस की मदद से छापामार कार्रवाई की और पॉपुलर फ्रंट ऑफ इंडिया (पीएफआई) के दो संदिग्ध सदस्यों को गिरफ्तार कर लिया। हालांकि, एक संदिग्ध को पूछताछ के बाद देर शाम छोड़ दिया गया।

प्राप्त जानकारी के मुताबिक बुलन्दशहर सिटी कोतवाली क्षेत्र के मोहल्ला ऊपरकोट पर तड़के चार बजे एटीएस ने पीएफआई सदस्य खालिक अंसारी के घर पर छापा मारा और खालिक को हिरासत में ले लिया। खालिक के परिवार के सभी मोबाइल फोन, लैपटॉप और दस्तावेजों को भी एटीएस ने जब्त कर लिया। खालिक अंसारी समाजवादी पार्टी के नगर अध्यक्ष भी रह चुके हैं।

अंसारी को ऑल इंडिया मजलिस इत्तेहादुल मुसलमीन (एआईएमआईएम) और भारतीय किसान यूनियन (बीकेयू) का सक्रिय सदस्य बताया जा रहा है। खालिक नगर में ग्रीन फील्ड नाम का एक स्कूल भी चलाते हैं। हालांकि, परिवार का दावा है कि खालिक अंसारी ने चार माह पूर्व पीएफआई की सदस्यता ग्रहण की थी और एक माह बाद पीएफआई की सदस्यता से त्याग पत्र भी दे चुके हैं।

परिवार का दावा है कि भारी संख्या में पहुंचा पुलिस बल खालिक अंसारी को अपने साथ ले गया। उधर, कस्बा स्याना के मोहल्ला चौधरियान में भी यूपी एटीएस ने अफ़ज़ाल नाम के शख्स को गिरफ्तार कर लिया। अफ़ज़ाल पेशे से अधिवक्ता हैं और मेरठ में प्रैक्टिस करते हैं। हालांकि, देर शाम एसडीएम न्यायालय में सुनवाई के बाद अधिवक्ता अफजाल को रिहा कर दिया गया।

Comments are closed.