पुलिस ने फर्जी कंपनियों के नाम पर लगभग 2 करोड से ज्यादा का चूना लगाने वाले जालसाज़ को किया गिरफ्तार

पुलिस ने फर्जी कंपनियों के नाम पर लगभग 2 करोड से ज्यादा का चूना लगाने वाले जालसाज़ को किया गिरफ्तार

रिपोर्ट: राकेश रावत

आर्थिक अपराध शाखा ने एक ऐसे जालसाज को गिरफ्तार किया है जिसने फर्जी कंपनियों के नाम पर लगभग 2 करोड से ज्यादा का चूना लगाया था. जिस कंपनी में यह पहले काम करता था उसके मैनेजर उमाशंकर ने आरोप लगाया था कि आरोपी नितिन सेंगर उनकी कंपनी के नाम पर करोड़ों की धोखाधड़ी कर रहा है. शिकायतकर्ता ने यह भी बताया कि यह तीनों फर्जी कंपनियों के जरिये इनकी कंपनी के नाम पर आने वाले भुगतान को अपनी फर्जी कंपनी के अकाउंट में डलवा रहे है. ये फ़र्ज़ी कंपनियां नितिन सेंगर के पिता, पत्नी और भाभी के नाम पर है.

आर्थिक अपराध शाखा के डीसीपी रवि कुमार सिंह ने बताया कि उनको मैक्स्पोज़र मीडिया ग्रुप के ए आर उमाशंकर ने शिकायत की थी कि कंपनी का पूर्व कर्मचारी नितिन सेंगर 3 फर्जी कंपनियां बनाकर उनकी कंपनी को नुकसान पहुंचा रहा है. पुलिस ने मामले की जांच शुरू की और जांच में पता चला आरोपी नितिन सेंगर के पिता पत्नी और भाभी इन तीन फर्जी कंपनियों का संचालन कर रहे हैं और मैक्स्पोज़र कंपनी के ग्राहकों से बिल का भुगतान अपनी फर्जी कंपनियों के बनाए अकाउंट में डलवा रहे हैं. जब उन्हें किसी विदेशी विदेशी कंपनी से विज्ञापन के आदेश मिलते थे तो वह अपनी फर्जी कंपनियों में भुगतान लेते थे.

पुलिस की जांच में सामने आया है है कि शिकायतकर्ता कंपनी को ये फर्जी तीनों कंपनियों ने मिलकर लगभग सवा दो करोड़ की ठगी कर चुके हैं इसके अलावा नितिन सेंगर ने अपने रोजगार के अनुबंध का उल्लंघन करते हुए संदिग्ध गतिविधियों में लिप्त पाए गए हैं. नितिन सिंगर पहले इस कंपनी में काम करते थे और 2017 में इस्तीफा देने के बाद मैं दूसरी कंपनी में शामिल हो गए थे और दूसरी कंपनी में जाकर उन्होंने शिकायतकर्ता कंपनी के लगभग 25% ग्राहकों को डायवर्ट कर दिया था पुलिस को जांच में सामने आया कि नितिन सिंगर, उनके पिता उनकी पत्नी और भाभी ने मिलकर शिकायतकर्ता कंपनी के लगभग सवा दो करोड़ रुपए गबन कर लिए हैं और धोखे से उनको अपने अकाउंट में डलवा लिया है

नितिन सेंगर ने नागपुर से बैचलर ऑफ इंजीनियरिंग का की डिग्री ली हुई है उसके बाद वह एक प्राइवेट कंपनी में नौकरी करने लगा था. वर्ष 2002 में वह दैनिक भास्कर में विज्ञापन प्रबंधक के पद पर था. इसके बाद 2004 में वह टाइम्स ऑफ इंडिया में शामिल हो गया था. वर्ष 2006 में वह इंडियन एक्सप्रेस में बिक्री प्रबंधक के रूप में काम कर रहा था. अभी वह मीडिया फ्रेंड्स कंपनी में कार्यरत है. जिसका मालिकाना हक उसकी पत्नी संध्या सिंह के पास है. नितिन सेंगर पर दिल्ली के आईपी एस्टेट थाने में भी एक मुकदमा दर्ज है.उस मुकदमे में भी इसने धोखाधड़ी और जालसाजी की थी. पुलिस ने उसको गिरफ्तार करके आगे कार्रवाई शुरू कर दी है.

 

Comments are closed.