कार में बिठाकर सवारियों के साथ लूटपाट करने वाले बदमाशों के साथ पुलिस की हुई मुठभेड़,दो घायल

 

रिपोर्ट-नितिन चौधरी

कार में बिठाकर लोगों के साथ लूट की घटनाओं को अंजाम देने वाले लुटेरों के साथ नोएडा पुलिस की मुठभेड़ हो गई। मुठभेड़ के दौरान गोली लगने से दो लुटेरे घायल हो गए तो वही उनका एक साथी मौके से फरार हो गया। मुठभेड़ में घायल हुए दोनों लुटेरे को इलाज के लिए जिला अस्पताल भिजवाया गया है,वहीं पुलिस फरार हुए बदमाश की तलाश में जुटी हुई है । इन बदमाशों के कब्जे से पुलिस ने हाल ही में लूटी हुई नगदी और तमंचे व एक कार बरामद की है।

नोएडा में पुलिस का ऑपरेशन क्लीन लगातार जारी है

नोएडा में पुलिस का ऑपरेशन क्लीन लगातार जारी है पुलिस लगातार बदमाशों पर कहर बनकर टूट रही है, तड़के करीब 3 बजे थाना 39 पुलिस की सेक्टर 42 में बदमाशों के साथ मुठभेड़ हो गई । एडिशनल डीसीपी रणविजय सिंह ने बताया कि पुलिस को मुखबिर ने सूचना दी कि कुछ लुटेरे लूट की घटना को अंजाम देने जा रहे है तभी पुलिस ने चैकिंग अभियान चलाया और सेक्टर 42 के पास एक वैगनआर कार उन्हें आती हुई दिखाई दी, जिसे रुकने का इशारा किया गया लेकिन वह लोग नहीं रुके और उन्होंने अपनी गाड़ी को दौड़ा दिया। जिसके बाद पुलिस ने उनका पीछा करने की कोशिश की पुलिस का पीछा करने पर वह लोग घबरा गए और उन्होंने पुलिस पार्टी पर फायरिंग शुरू कर दी।

गाड़ी डिवाइडर से टकरा गई

इस दौरान उनकी गाड़ी डिवाइडर से टकरा गई और वह गाड़ी से उतरकर फायरिंग करते हुए भागने लगे। पुलिस ने भी जवाबी फायरिंग की जिसमें 2 बदमाशों के पैर में गोली लग गई । गोली लगने के बाद दोनों बदमाश गिर गए, जिनको पुलिस ने दौड़कर पकड़ लिया। इस दौरान उनका एक साथी बदमाश मौके से फरार हो गया।मुठभेड़ में घायल हुए बदमाशो की पहचान पंकज और देशराज के रूप में हुई है ,ये दोनों बदमाश दिल्ली के रहने वाले हैं और यह लोग अपनी एक वैगनआर कार से लोगों को सवारी के रूप में अपनी गाड़ी में बैठा कर उनके साथ लूट की घटना को अंजाम दिया करते थे ।ये लोगो नोएडा ,गाज़ियाबाद में लोगो को अपना निशाना बनाते थे थे।

कार में सवारी को बैठा कर 30 हजार रुपये लूट की घटना को अंजाम

इन लोगो ने 3 अगस्त को सेक्टर 37 से अपनी कार में सवारी को बैठा कर 30 हजार रुपये लूट की घटना को अंजाम दिया था।घायल बदमाशो के कब्जे से उस घटना के रुपए, घटना में प्रयुक्त वैगन आर कार नंबर,तमंचे, जिंदा कारतूस बरामद किये है।इन लोगो के विरुद्ध जनपद गाजियाबाद में भी मुक़दमे पंजीकृत है, फिलहाल पुलिस अन्य जगह से भी इनके आपराधिक इतिहास के बारे में जानकारी जुटा रही है।

Comments are closed.