प्रवासी मजदूरों ने भी सामान समेटना किया शुरू

-धीरे-धीरे हाइवे, एक्सप्रेस वे और बस डिपो पर मजदूरों की भीड़ जुटनी हुई शुरू

नोएडा। दिल्ली में लॉकडाउन के बाद से नोएडा में रहने वाले प्रवासी मजदूर एक बार फिर घर लौटने को मजबूर हैं। नोएडा-ग्रेटर नोएडा के विभिन्न इलाकों में रेहड़ी पटरी पर दुकान लगाने वाले, कंस्ट्रक्शन साइटों पर काम करने वाले और कम्पनियों में काम करने वाले प्रवासी मजदूरों ने सामान समेटना शुरू कर दिया है। प्रवासी मजदूर अब एक बार फिर टकटकी लगाए अपने घरों की तरफ देख रहे हैं। 

सोमवार को दिल्ली में लॉकडाउन लगने के बाद नोएडा में रहने वाले प्रवासी मजदूरों ने घर लौटने की तैयारियां शुरू कर दी है। सोमवार को नोएडा के प्रवासी मजदूरों की भीड़ आनन्द विहार और गाजियाबाद के कौशाम्बी बस डिपो पर दिखी। ठीक यही हाल नोएडा के हाइवे, एक्सप्रेस वे और बस डिपो का रहा। धीरे-धीरे प्रवासी मजदूरों की भीड़ इन जगहों पर दिखना शुरू हो गई है।

लोग अपने घर जाने की जद्दोजहद में जुट गए हैं। प्रवासी मजदूरों को लगता है कि हालात दिन प्रतिदिन खराब होते जा रहे हैं। अगर यूपी में लॉकडाउन लगा तो उनके सामने रोजी रोटी का संकट पैदा हो सकता है। ये मजदूर लॉकडाउन लगने से पहले अपने घर पहुँचने की कोशिश में जुट गए हैं। मजदूरों का कहना है कि यहां रहे तो कोरोना से बाद में पहले भूख से ही मर जाएंगे।

Leave A Reply