पूर्वांचल विश्वविद्यालय में छात्रवृत्ति फार्म जमा न होने पर छात्रों ने किया प्रदर्शन

-पीयू का मुख्य गेट घंटे भर बंद होने से मची अफरा-तफरी, छात्रों की बात मानकर विश्वविद्यालय प्रशासन ने दी छात्रों को राहत

देवेंद्र यादव

जौनपुर। पूर्वांचल विश्वविद्यालय के विभिन्न पाठ्यक्रमों के लिए छात्रों को दी जाने वाली छात्रवृत्ति के संशोधित आवेदन जमा न किए जाने से नाराज छात्रों ने बुधवार को हंगामा खड़ा कर दिया। आक्रोशित छात्रों के हुजूम ने पूर्वांचल विश्वविद्यालय का मुख्य गेट बंद कर वहीं धरना देना शुरू कर दिया। इस दौरान उन्होंने विश्वविद्यालय प्रशासन के आला अधिकारियों के खिलाफ जमकर नारेबाजी की।

दरअसल बीटेक, एमबीए और विज्ञान संकाय समेत अन्य विभागों के छात्रवृत्ति का फार्म दो फरवरी तक जमा हुआ था। हालांकि इसके बाद फार्म में गड़बड़ी थी तो शासन की तरफ से फार्म को सुधारने के बाद ही उसे समायोजित करने का हवाला दिया जिसके बाद तीन फरवरी से लेकर 10 फरवरी तक छात्रों को आनलाईन संशोधन करने का अवसर दिया गया।

लिहाजा, छात्रों ने दोबारा छात्रवृत्ति फार्म को डाउनलोड कर उसमें जो कमियां थी उन्हें सुधारा और संशोधित आवेदन की हार्ड कॉपी लेकर पूर्वांचल विश्वविद्यालय के डीएसडब्ल्यू विभाग में जमा करने पहुंच गए। मगर, वहां मौजूद कर्मचारियों ने अंतिम तिथि समाप्त होने का हवाला देकर आवेदन लेने से मना कर दिया।

 

विश्वविद्यालय कर्मियों की बात सुनकर छात्र -छात्राएं भड़क उठे और भारी संख्या में एकत्र होकर विश्वविद्यालय के जिम्मेदार लोगों के खिलाफ नारेबाजी करने लगे। इस दौरान छात्रों ने पूर्वांचल विश्वविद्यालय के मुख्य गेट को बंद कर वही धरना प्रदर्शन शुरू कर दिया। साथ ही संस्थान के खिलाफ जोरदार नारेबाजी प्रारंभ कर दी। वहीं, चीफ प्राक्टर प्रो. संतोष कुमार, वार्डेन प्रो. राज कुमार सोनी ने उन्हें समझाने का प्रयास किया, लेकिन छात्र नहीं माने।

 

आखिरकार डीएसडब्ल्यू विभाग के समन्वयक प्रोफेसर अजय द्विवेदी मोके पर पहुंचे। उन्होंने छात्रों को समझाया और छात्रों का एक ग्रुप लेकर कुलपति से मिल कर पूरे मामले को बताते हुये उनसे आग्रह किया, जिसके बाद कुलपति प्रोफेसर डॉ. निर्मला मोर्य ने छात्र हित को देखते हुए संशोधित आवेदन जमा करने का आदेश दिया।

 

इस बारे में समन्वक में प्रोफेसर अजय द्विवेदी ने बताया कि छात्र हित में सभी काम किए जाएंगे। कोई फार्म रोका नहीं गया था। छात्रों व कर्मचारियों के बीच थोड़ा अंडरस्टैंडिंग का मामला था जिसे सॉल्व कर उनका फार्म जमा किया जा रहा है। फार्म जमा करने की हरी झंडी मिलते ही छात्रों ने विश्वविद्यालय का गेट खोल कर धरना समाप्त कर दिया।

Leave A Reply