आज़ होगा Raju Srivastava का अंतिम संस्कार, दिल्ली स्थित घर से 9 बजे निकलेगी शव यात्रा

Raju Srivastava last Rites will performed today

गाजोधार भैया अर्थात Raju Srivastava के निधन से पुरी फ़िल्म इंडस्ट्री स्तब्ध है. राजू श्रीवास्तव ना केवल कॉमेडियन बल्कि एक अच्छे एक्टर भी थे उन्होंने कई फिल्मों में अपनी कॉमेडी से लोगों को गुदगुदाया था. बता दें कि पिछले लगभग एक महीने से Raju Srivastava जी को आईसीयू में रखा गया था उनकी तबीयत काफी खराब थी. मिली जानकारी के अनुसार पता चला था कि जिम में ट्रेड मिल पर दौड़ते हुए उन्हें आर्ट अटैक आया था. जितने दिन भी वेयर स्वस्थ रहें उनके फैंस उनके अच्छे होने की कामना करते रहें.

Raju Srivastava जी की कॉमेडी का कोई मुकाबला नहीं था कोई शख्स ऐसा नहीं है जों आज़ तक उनकी कॉमेडी से ना हसा हो. राजू श्रीवास्तव जी जिंदगी से जुड़ी छोटे-मोटे पहलुओं पर भी इतना हंसा जाते थे जैसे लगता था यह सब रियल है. जैसे कि शादी विवाह में फूफा जी नाराज तो होते हैं पर यह सब किसी और को नहीं दिखा राजू श्रीवास्तव को दिखा और उन्होंने इसपर जबरदस्त स्टैंडप कॉमेडी की.

कब और कहा होगा Raju Srivastava जी का अंतिम संस्कार?

Raju Srivastava के अंतिम संस्कार की घर पर तैयारियां हो रही हैं. राजू श्रीवास्तव को उनके बेटे आयुष्मान श्रीवास्तव मुखाग्नि देंगे. आज वो पंचतत्व में विलीन हो जाएंगे. राजू श्रीवास्तव के अंतिम दर्शन के लिए उनके करीबी दोस्त सुनील पाल वहां पहुंच चुके हैं. राजू श्रीवास्तव के दो बच्चे हैं बेटा आयुष्मान सितारवादक है, वहीं बेटी अंतरा असिस्टेंट डायरेक्टर हैं.

राजू श्रीवास्तव के परिजनों का कहना है कि उनके पार्थिव शरीर को उनके भाई के घर पर रखा गया है. वहां से 35 किमी दूर निगम बोध घाट ले जाया जाएगा, जहां 10 बजे उनका अंतिम संस्कार किया जाएगा.

राजू श्रीवास्तव को 10 अगस्त को दिल का दौरा पड़ने के बाद दिल्ली के एम्स अस्पताल में भर्ती कराया गया था. दरअसल, राजू श्रीवास्तव होटल की जिम में वर्कआउट कर रहे थे. तभी अचानक ट्रेडमिल पर चलने के दौरान उन्हें दिल का दौरा पड़ा और वो नीचे गिर गए. नीचे गिरने की वजह से उन्हें सिर में गंभीर चोट आई थी. आनन-फानन में उन्हें दिल्ली के एम्स अस्पताल लाया गया, जहां डॉक्टर्स ने उन्हें तुरंत वेंटिलेटर पर शिफ्ट कर दिया. उनकी एंजियोप्लास्टी भी की गई थी. डॉक्टर्स ने उन्हें बचाने की हर संभव कोशिश की लेकिन 42 दिनों के संघर्ष के बाद भी वो उन्हें बचा नहीं पाए.

संसद भवन को बम से उड़ाने की धमकी देने वाला पूर्व विधायक गिरफ्तार,लोकसभा अध्यक्ष को भेजी थी जिलेटिन की छड़ें

Comments are closed.