Republic Day: इस साल तमिलनाडु की झांकी परेड में क्यों नहीं होगी शामिल, राजनाथ सिंह ने दिया जवाब

Republic Day: इस साल तमिलनाडु की झांकी परेड में क्यों नहीं होगी शामिल, राजनाथ सिंह ने दिया जवाब

-72वें गणतंत्र दिवस में राज्यों की झांकियों को लेकर रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने दिया स्पष्टीकरण

नई दिल्ली। गणतंत्र दिवस Republic Day की परेड में तमिलनाडु की झांकी को शामिल नही किए जाने को लेकर प्रदेश के मुख्यमंत्री एमके स्टालिन की नाराजगी सामने आने के बाद रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने स्पष्टीकरण दिया है। दरअसल, इस संबंध में सीएम स्टालिन ने पीएम मोदी को एक पत्र लिखकर अपनी नाराजगी जताई है। सोमवार को पीएम को लिखे पत्र में उन्होंने कहा था कि तमिलनाडु की झांकी परेड में शामिल नहीं होने से राज्य के लोगों की भावनाएं आहत होंगी। साथ ही उनकी देशभक्ति की भावनाओं को गहरी ठेस पहुंचेगी। उन्होंने इस मामले में प्रधानमंत्री से तत्काल हस्तक्षेप करने की मांग भी की थी।

प्रधानमंत्री को लिखे गए शिकायती पत्र के जवाब में रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने तमिलनाडु के मुख्यमंत्री को पत्र लिखकर अपना पक्ष रखा है। उन्होंने पत्र में सीएम को बताया कि वर्ष 2022 की गणतंत्र दिवस परेड के लिए गठित विशेषज्ञ समिति की पहले तीन दौर की बैठकों में तमिलनाडु की झांकी को शामिल किया गया था लेकिन वह परेड के लिए चुनी गई 12 झांकियों की अंतिम सूची में जगह नहीं बना सकी। साथ ही उन्होंने अवगत कराया कि “रक्षा मंत्रालय प्रतिवर्ष सभी राज्यों / केंद्र शासित प्रदेशों और केंद्रीय मंत्रालयों / विभागों से झांकियों के लिए प्रस्ताव आमंत्रित करता है। इस संबंध में प्राप्त तमाम झांकियों के प्रस्ताव कला, संस्कृति, चित्रकला, मूर्तिकला, संगीत, वास्तुकला, नृत्यकला आदि के क्षेत्र में प्रतिष्ठित व्यक्तियों की विशेषज्ञ समिति की बैठक में भेजे जाते हैं। इस दौरान तमाम झांकियों का मूल्यांकन किया जाता है। विशेषज्ञ समिति विषय, अवधारणा, डिजाइन और इनोवेशन के आधार पर प्रस्तावों की जांच करती है।

विशेषज्ञ समिति करती है झांकियों की शार्टलिस्टिंग

पत्र में आगे रक्षा मंत्री ने लिखा कि परेड की समग्र अवधि में झांकियों के लिए आवंटित समय स्लाट के अनुसार झांकियों की शार्टलिस्टिंग की जाती है। इस बार गणतंत्र दिवस परेड के लिए तमिलनाडु राज्य सहित अन्य राज्यों व केंद्रशासित प्रदेशों से कुल 29 प्रस्ताव प्राप्त हुए थे। तमिलनाडु की झांकी पहले तीन दौर की बैठकों में शामिल की गई थी लेकिन वह 12 झांकियों की अंतिम सूची में जगह नहीं बना सकी। सिंह ने कहा कि झांकी का चयन पूर्व निर्धारित दिशा-निर्देशों के अनुसार ही होता है।

Republic Day: पश्चिम बंगाल की झांकी भी केंद्र से खारिज

गौरतलब है कि केंद्र ने गणतंत्र दिवस परेड के लिए पश्चिम बंगाल की झांकी को भी खारिज कर दिया है जिसके बाद राज्य की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने प्रधानमंत्री को पत्र लिखकर अपने फैसले पर पुनर्विचार करने का आग्रह किया है। इससे पहले रविवार को, ममता बनर्जी ने आने वाले गणतंत्र दिवस परेड के लिए पश्चिम बंगाल की प्रस्तावित झांकी की अस्वीकृति पर प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी को पत्र लिखा और परेड में पश्चिम बंगाल के स्वतंत्रता सेनानियों की झांकी को शामिल करने का अनुरोध किया।

Comments are closed.