चुनाव आयोग से पीएम की आचार संहिता के उल्लंघन की शिकायत

साक्षात्कार में चुनावी लाभ के लिए किया अभिनंदन के नाम का इस्तेमाल : आप

नई दिल्ली। आम आदमी पार्टी ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के खिलाफ आदर्श आचार संहिता के उल्लंघन का आरोप लगाते हुए भारत चुनाव आयोग को शिकायती पत्र दिया है। पत्र में नरेंद्र मोदी के खिलाफ कानून के मुताबिक कार्रवाई करने की मांग की है।

आम आदमी पार्टी के लीगल सेल के एडवोकेट मोहम्मद इरशाद ने भारत चुनाव आयोग की दिए शिकायती पत्र में कहा है कि प्रधानमंत्री ने एक साक्षात्कार के दौरान कहा कि जब अभिनंदन की घटना घटी तो देश के सभी दलों को कहना चाहिए था कि हमें देश की सेना पर गर्व है कि उसने एफ-16 मार गिराया। उसकी बजाय ये अभिनंदन वापस कब आएगा, इस पर चल पड़े। आम आदमी पार्टी ने कहा है कि चुनाव आयोग ने 09 मार्च को लोकसभा चुनाव की अधिसूचना के साथ ही सभी राजनीतिक दलों के लिए एडवाइजरी जारी की थी। उसमें कहा गया था कि सेना को चुनाव प्रचार का माध्यम बनाना आदर्श आचार संहिता का उल्लंघन माना जाएगा। चुनाव आयोग ने अपनी एडवाइजरी में यह भी कहा था कि सेना के अफसरों के फोटो को भी चुनाव प्रचार का जरिया नहीं बनाया जा सकता है। उसके बावजूद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने एक साक्षात्कार के दौरान कहा कि वायुसेना के अफसर अभिनंदन ने पाकिस्तान के एफ-16 विमान को मार गिराया। उनकी बहादुरी की पूरे देश में सराहना हुई।

आम आदमी पार्टी ने कहा है कि चुनाव आयोग की चेतावनी के बावजूद प्रधानमंत्री ने अपने चुनावी लाभ के लिए सेना के अफसर के नाम का इस्तेमाल किया। इतना ही नहीं, भारतीय जनता पार्टी के नेताओं ने इसे ट्वीटर पर भी शेयर किया। यह पूरी तरह से आदर्श आचार संहिता का उल्लंघन है। पत्र में यह भी कहा गया है कि प्रधानमंत्री ने ट्वीटर पर यह भी लिखा कि उस दिन रात को विपक्ष ने कैंडिल लाइट मार्च निकालने और पुलवामा हमले को मुद्दा बनाने का षडयंत्र तैयार कर लिया था। शाम को 4-5 बजे तक पाकिस्तान के प्रधानमंत्री ने अभिनंदन की रिहाई की घोषणा कर दी, जिससे इनकी योजना धरी की धरी रह गई।

आम आदमी पार्टी ने भारत चुनाव आयोग से अनुरोध किया है कि वह इस मामले की विस्तार से जानकारी कर कानून के मुताबिक प्रधानमंत्री के खिलाफ आदर्श आचार संहिता के उल्लंघन के आरोप में कार्रवाई करे।

Leave A Reply