शाही खिचड़ी का भोग लगाकर भक्तों ने निकाली भगवान की रथयात्रा

मंदिर के महंत दिनेश चन्द्र द्विवेदी ने सभी के प्रति आभार व्यक्त किया।

लालू प्रसाद

जौनपुर: नगर रासमण्डल में स्थित श्री जगन्नाथ धाम में भगवान का पट खुला जिसके बाद आचार्य डा. रजनीकांत द्विवेदी के निर्देशन में जनपद के वरिष्ठ चिकित्सकों ने भगवान का षोडशोपचार पूजन सम्पन्न कर भगवान श्री जगन्नाथ, बलभद्र जी एवं देवी सुभद्रा को शाही खिचड़ी का भोग लगाया। मंदिर में हजारों श्रद्धालुओं ने भगवान का दर्शन-पूजन किया जिसके बाद रथयात्रा समिति के अध्यक्ष शशांक सिंह, महामंत्री शिवशंकर साहू, संजय गुप्ता, नीलिमा गुप्ता, राजेश गुप्ता, आशीष यादव, नीरज श्रीवास्तव, जगदेव सेठ, संतोष जायसवाल आदि ने लोगों को शाही खिचड़ी का वितरण किया। सायंकाल मंदिर समिति के मुख्य ट्रस्टी संतोष गुप्ता तथा मुख्य अतिथि बृजेश सिंह सदस्य विधान परिषद ने रथारुण भगवान श्री जगन्नाथ, श्री बलभद्र एवम् देवी सुभद्रा की आरती उतारी जिसके बाद नारियल फोड़कर रथयात्रा का शुभारम्भ किया। रथयात्रा में जनपद के हजारों नर-नारियों ने पारम्परिक तरीके से भगवान के रथ को रस्सियों से खींच कर भगवान को नगर का भ्रमण कराया। इसमें महंत महेन्द्र दास त्यागी, अंकुर शुक्ला, अरुण त्रिपाठी, डा. अजीत कपूर, डा. विकास रस्तोगी, जयकृष्ण साहू, विष्णु सहाय, संजय पाठक, नीरज उपाध्याय, योगेश भाटिया, अवंतिका द्विवेदी, सरिता मिगलानी आदि शामिल रहे। रथयात्रा के आगे 5 लोग निरंतर शंखनाद करते चल रहे थे तो भक्तगण पूरे रास्ते आगे झाड़ू लगाते दिखे। प्रतापगढ़ से आयीं भक्तों की टोलियां राधा-कृष्ण की झांकी, डांडिया नृत्य तथा स्कान से आये सन्तों का अहर्निश संकीर्तन आकर्षण का केन्द्र रहा। देखा गया कि भगवान की रथयात्रा मानिक चौक, राजा फाटक, कोतवाली चौराहा, सुटहट्टी बाजार, चहारसू चौराहा, ओलन्दगंज चौराहा, सद्भावना पुल होते हुए पुनः मंदिर प्रांगण पहुंचकर सम्पन्न हो गयी। पूरे मार्ग में जगह-जगह पर सामाजिक संस्थाओं भक्तों ने जलपान की व्यवस्था कर रखी थी तो जगह-जगह भगवान के रथ पर पुष्प वर्षा की जा रही थी। अन्त में मंदिर के महंत दिनेश चन्द्र द्विवेदी ने सभी के प्रति आभार व्यक्त किया।

Comments are closed.