शहीद वायुसैनिक राजेश कुमार के परिजनों से मिल भावुक हुए सीएम, सौंपा एक करोड़ का चेक

- 03 जून 2019 को अरूणाचल प्रदेश में ऑपरेशनल ट्रेनिंग सॉर्टी के दौरान एक विमान दुर्घटना में शहीद हो गए थे राजेश कुमार

नई दिल्ली। मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल शुक्रवार को दिल्ली के रेस कोर्स क्लब में रह रहे शहीद स्वर्गीय राजेश कुमार के परिवार से मिलकर भावुक हो गए। स्वर्गीय राजेश कुमार भारतीय वायु सेना में तैनात थे और 03 जून 2019 को अरूणाचल प्रदेश में ऑपरेशनल ट्रेनिंग सॉर्टी के दौरान एक विमान दुर्घटना में शहीद हो गए थे। इस दौरान शोक संतप्त परिवार के सदस्य अपने बीच मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल को पाकर अपने आंसू रोक नहीं सके।

मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा कि स्वर्गीय राजेश कुमार भारतीय वायु सेना में कार्यरत थे और देश की सेवा करते हुए एक विमान दुर्घटना में शहीद हो गए थे। आज उनके परिवार से मिला और एक करोड़ रुपए की सम्मान राशि का चेक सौंपा। उन्होंने कहा कि, स्वर्गीय राजेश कुमार के जान की कीमत तो हम नहीं लगा सकते हैं, लेकिन मैं उम्मीद करता हूं कि इससे उनके परिवार को थोड़ी मदद मिलेगी। हमने स्वर्गीय राजेश कुमार की एक बहन को पहले ही सिविल डिफेंस में शामिल कर लिया है, दूसरी बहन को भी उसमें नौकरी देंगे और भविष्य में भी उनके परिवार का ख्याल रखेंगे।

मुख्यमंत्री ने ट्वीट कर कहा, ‘‘स्वर्गीय राजेश कुमार भारतीय वायु सेना में कार्यरत थे। वह देश की सेवा करते हुए एक विमान दुर्घटना में शहीद हो गए थे। आज उनके परिवार से मिला और एक करोड़ रुपए की सहायता राशि का चेक सौंपा। उम्मीद है कि इससे परिवार को मदद मिलेगी। भविष्य में भी स्वर्गीय राजेश कुमार जी के परिवार का ख्याल रखेंगे।’’

इस दौरान मीडिया से बातचीत करते हुए मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा कि स्वर्गीय राजेश कुमार दो साल पहले अरूणांचल प्रदेश में तैनात थे और वहां ऑपरेशनल ट्रेनिंग सॉर्टी (एयर मेंटेनेंस) के दौरान उनका एयर क्राफ्ट दुर्घटनाग्रस्त होने से वह शहीद हो गए। जैसा कि फौज में तैनात दिल्ली के जो भी लोग शहीद होते हैं, उन लोगों को दिल्ली सरकार एक करोड़ रुपए की सम्मान राशि देती है।

आज मैं स्वर्गीय राजेश कुमार के माता-पिता और पत्नी समेत परिवार के सभी सदस्यों से मिला और परिवार को एक करोड़ रुपए की सम्मान राशि का चेक सौंपा है। स्वर्गीय राजेश कुमार के जान की कीमत तो हम नहीं लगा सकते हैं, लेकिन मैं उम्मीद करता हूं कि इससे इनके परिवार को थोड़ी मदद मिलेगी। स्वर्गीय राजेश की एक बहन को पहले ही हमने सिविल डिफेंस में शामिल कर लिया है और दूसरी बहन को भी हम उसमें नौकरी देंगे। साथ ही जो भी संभव होगा, वह सब कुछ हम उनके परिवार के लिए करेंगे।

Comments are closed.