श्री कृष्ण जन्मभूमि को अतिक्रमण मुक्त कराने के बाबत साधु संतों ने की वृंदावन में बैठक

श्री कृष्ण जन्म भूमि की 13.37 एकड़ भूमि पर बनी शाही ईदगाह को लेकर महेंद्र प्रताप सिंह ने दायर की याचिका

मथुरा। श्री कृष्ण जन्मभूमि की 13.37 एकड़ भूमि को अतिक्रमण मुक्त कराने को लेकर हिंदू एकजुट होने लगे हैं। श्री कृष्ण जन्मभूमि और शाही ईदगाह मामले में याचिकाकर्ता महेंद्र प्रताप सिंह द्वारा वृंदावन में साधु संतों की एक बैठक आयोजित की गई। इस बैठक का मुख्य उद्देश्य श्री कृष्ण जन्म भूमि की 13.37 एकड़ भूमि को अतिक्रमण मुक्त कराने को लेकर है। वृंदावन की इस बैठक में मौजूद साधु-संतों और याचिकाकर्ताओं ने कहा कि श्री कृष्ण जन्म भूमि की 13.37 एकड़ भूमि में बनी शाही ईदगाह को हटाया जाए इसको लेकर रूपरेखा तैयार की जानी चाहिए।

1 जुलाई को होगी न्यायालय में सुनवाई

श्री कृष्ण जन्म भूमि की 13.37 एकड़ भूमि में शाही ईदगाह बने होने का दावा याचिकाकर्ता महेंद्र प्रताप सिंह द्वारा अपनी याचिका में किया गया है यह मामला सिविल जज सीनियर डिविजन की अदालत में है विचाराधीन है और न्यायालय अब इस मामले पर 1 जुलाई को सुनवाई करेगा।

श्रीकृष्ण जन्मभूमि मामले में साधु संतों का बनेगा पैनल

बैठक में श्री कृष्ण जन्मभूमि में लगाई गई याचिका को लेकर एक पैनल बनाने पर चर्चा की गई ।इस पैनल में वृंदावन के साधु संत मौजूद रहेंगे और हर तारीख पर साधु संत न्यायालय में जाएंगे यह पैनलिस्ट बकायदा नाम सहित लिस्ट में रखे जाएंगे।

1 दर्जन शिकायत न्यायालय में हो चुकी है दर्ज

श्री कृष्ण जन्म भूमि की 13.37 एकड़ भूमि को अतिक्रमण मुक्त कराने को लेकर विभिन्न संगठनों और याचिकाकर्ताओं ने करीब एक दर्जन याचिका न्यायालय में लगाई गई है। जिसमें श्री कृष्ण जन्म भूमि की 13.37 एकड़ भूमि को अतिक्रमण मुक्त कराने शाही ईदगाह पर स्टे कमीशन नियुक्त करने के साथ ही आग लगी ऑफ इंडिया द्वारा सर्वे रिपोर्ट तैयार करने की मांग की गई है।

Comments are closed.