प्रकिर्तिक आपदा: स्पेन के ला पालमा द्वीप पर नदियों की तरह बह रहा है ज्वालामुखी

कया इस ज्वालामुखी का फटना किसी बड़ी अनहोनी का इशारा है?

आइये विस्तार से जानते है

पिछले एक महीने से स्पेन के ला पालमा द्वीप पर ज्वालामुखी एक्टिव है। हद तो ज्वालामुखी ने तब कर दी जब मैगमा नदियों की तरह बहने लगा। यह ये गरम लावा पहाड़ो से बहुत कर निचे बसें घरों मे घुसने लगा। इसने कई घर तबाह कर दिए है। लोग तो पहले ही यहाँ से जा चुके है परन्तु अब उनके घर भी नहीं बचे। कई घरों को जला कर रख करने के बाद भी ज्वालामुखी शांत नहीं हुवा है।

स्पेन के नेशनल जियोलॉजिकल इंस्टीट्यूट ने शनिवार को बताया कि एक माह पहले धधकना शुरू हुए ज्वालामुखी ने भयावह रूप ले लिया है। बह रहे ज्वालामुखी से लोगों को बचाने के लिए उनको घरों से निकाल सुरक्षित जगह पहुंचाया जा रहा है। लोगो के खेत खलिहन और कई कई इकडे मे लगे फसले बर्बाद हो गई है। प्रकीर्ति मे अचानक हुवे इस बदलाव से सभी हैरान परेशान है।

कितना ख़तरनाक है ये ज्वालामुखी

ला पालमा द्वीप पहुंची जर्मन रिसर्च सेंटर फॉर जियो साइंसेज के वैज्ञानिकों ने बताया है कि ज्वालामुखी 6,300 मीटर लंबा है, एक हजार मीटर चौड़ा और 25 मीटर मोटी है। इसी से इसकी भयावहता को आंका जा सकता है।

24 घंटे में 16 बार भूकंप के झटके

ज्वालामुखी से लाल हुआ ला पालमा द्वीप भूकंप से भी थर्राने लगा है। एनजीआई ने बताया है कि पिछले ज्वालामुखी के प्रचंड रूप के कारण बीते 24 घंटे में 3.5 तीव्रता के भूकंप के 16 झटके महसूस किए जा चुके हैं। एनजीआई ने बताया कि ज्वालामुखी के रौद्र रूप के बाद शनिवार को 37 बाद भूगर्भीय हलचल दर्ज की गई। इसमें सबसे तेज हलचल रिक्टर पैमाने पर 4.1 थी। ज्वालामुखी के भय से ला पालमा एयरपोर्ट पिछले माह से बंद है।

कितना हुवा है नुकसान

ज्वालामुखी फटने से पहले करा 83 हजार लोगों का इस द्वीप पर ठिकाना था जो अब बेघर हो चुके हैं। 6000 परिवार जो इस द्वीप के बाशिंदे थे अब घर छोड़कर भाग चुके हैं। 1150 घरों को लावा अब तक नुकसान पहुंचा चुका है। 1190 एकड़ जमीन बुरी तरह बर्बाद है। 370 एकड़ मे लगी केले की फसल पूरी तरह बर्बाद हो चुकी है।

Comments are closed.