केंद्रीय मंत्री डॉ. महेश शर्मा को ब्लैकमेल करने का मुख्य आरोपी कोलकाता से गिरफ्तार

स्टिंग के बदले मांगा था 10 करोड़, नोएडा पुलिस ने कोलकाता से किया गिरफ्तार

नोएडा। गौतमबुद्ध नगर के सांसद और केंद्रीय मंत्री डॉ. महेश शर्मा का स्टिंग कर उन्हें ब्लैकमेल करने के मुख्य आरोपी आलोक कुमार को नोएडा पुलिस ने कोलकाता से गिरफ्तार किया है। पुलिस अब उसे ट्रांजिट रिमांड पर लेकर पूछताछ करेगी।

सेक्टर-14ए स्थित पुलिस कंट्रोल रूम में रविवार को हुई प्रेस कान्फ्रेंस में एसएसपी वैभव कृष्ण ने बताया कि 22 अप्रैल को डॉ. महेश शर्मा को स्टिंग ऑपरेशन के नाम पर ब्लैकमेल करने का मामला उजागर हुआ था। उसकी रिपोर्ट डॉ. महेश शर्मा के रिश्ते के भाई अजय शर्मा ने दर्ज कराई थी। पुलिस ने उसी दिए एक मुख्य आरोपी आलोक से जुड़ी नीशू नाम की एक युवती को गिरफ़्तार किया था। घटना के समय से ही पुलिस मुख्य आरोपी आलोक कुमार, खालिद और अन्य अज्ञात आरोपियों की तलाश कर रही थी। आखिर, दो मई को नोएडा पुलिस ने कोलकाता से मुख्य आरोपी आलोक को गिरफ्तार कर लिया है।

एसएसपी ने बताया कि इस मामले में क्राइम ब्रांच की स्वाट टीम-2 और थाना सेक्टर-20 की पुलिस ने आलोक कुमार को कोलकाता में न्यू मार्केट थाना क्षेत्र के होटल रीगल से दो मई को गिरफ्तार किया है। पूछताछ के लिए कोलकाता के मेट्रोपोलिटन मजिस्ट्रेट की अदालत से 72 घंटे की ट्रांजिट रिमांड पर गौतमबुद्ध नगर लाया गया। रविवार को ट्रांजिट रिमांड की अवधि खत्म होने पर उसे गौतमबुद्ध नगर के जिला अदालत में पेश कर पुलिस कस्टडी रिमांड पर लिया जाएगा, जिससे पूरे मामले की विस्तार से छानबीन हो सके।

गौरतलब है कि अप्रैल माह में केंद्रीय मंत्री डॉ. महेश शर्मा को स्टिंग ऑपरेशन के नाम पर प्रतिनिधि न्यूज चैनल का मालिक आलोक कुमार ब्लैकमेल कर 10 करोड़ रुपये की मांग कर रहा था। 22 अप्रैल को आलोक का पत्र लेकर कैलाश अस्पताल गई आरोपी नीशू को पुलिस ने उसी दिन पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया था। पुलिस ने नीशू को सात दिन के रिमांड पर लेकर कई राज्यों में सबूत तलाशे, लेकिन उसे कुछ नहीं मिला। आखिर, दो मई की शाम पुलिस ने उसे दोबारा जेल भेज दिया। आरोप है कि आलोक और उसके साथियों ने कई राज्यों में नेताओं और कई बड़े अधिकारियों का भी स्टिंग कर उन्हें ब्लैकमेल किया है, लेकिन पुलिस को अभी उस बाबत कोई सबूत हाथ नहीं लगे हैं।

Leave A Reply