Sweden: इस गाँव का नाम लेने से भी लोग शरमाते है, अब कर रहे है सरकार से गाँव का नाम बदलने की मांग

This swedish village has unique name

Sweden: इस swedish विलेज का नाम ही बन गया है यहाँ के लोगो के लिए परेशानी का सबब. अब लोग चाहते है इसे बदलवा कर Dalsro नाम रखवाना. दरअसल इस विलेज का नाम Fucke है जो आज से कई साल पहले रखा गया था. लोगो सोशल मीडिया पर इस नाम को लेने मे शर्म आती है. लोग कहते है की सोशल मीडिया के लिए ये एक एब्यूजवे लैंग्वेज  है. जो फेसबुक के अलगोरिथम को सूट नहीं करता. जिसके करम थोड़े ही वक्त मे उनके गाँव का नाम वहा से हटा दिया जाता है.

क्यों हटाना चाहते है ये नाम

Fucke नाम भी दशकों पहले रखा गया था, इसलिए माना जा रहा है कि यहां रहने वालों की मांग भी खारिज हो सकती है. हालांकि, गांव वालों का कहना है कि वो अपना अभियान जारी रखेंगे. इस गांव में कुल 11 घर हैं और उनका कहना है कि गांव का नाम बदलकर Dalsro रखा जाए, जिसका मतलब है शांत घाटी. एक ग्रामीण ने कहा, ‘वैसे तो इस नाम में कोई समस्या नहीं है, लेकिन कई बार ये शर्मिंदगी का विषय बन जाता है और हम सोशल मीडिया साइट्स पर इसका उल्लेख भी नहीं कर सकते. इसलिए हम चाहते हैं कि गांव का नाम बदला जाए’.

 

सोशल मीडिया पर होती है ये परेशानी

स्थानीय टीवी चैनल से बात करते हुए ग्रामीण ने आगे कहा कि सोशल मीडिया सेंसरशिप के चलते इस तरह के नाम जो आपत्तिजनक या अश्लील लगते हैं, उन्हें हटा दिया जाता है. हमारे गांव के नाम के साथ भी Facebook Algorithms यही करती है. जिस वजह से हम कोई विज्ञापन भी पोस्ट नहीं कर पाते. बता दें कि नाम बदलने से जुड़े मामलों में नेशनल लैंड ट्रस्ट को स्वीडन के नेशनल हेरिटेज बोर्ड और भाषा एवं लोककथा संस्थान से मिलकर कोई फैसला लेना पड़ता है.

 

इस गांव की मांग नहीं हुई थी पूरी

‘डेली स्टार’ में छपी खबर के अनुसार, स्वीडन (Sweden) के गांव Fucke में रहने वाले लोग अपने गांव का नया नाम चाहते हैं. उन्होंने इसके लिए एक अभियान भी छेड़ रखा है. अब ये फैसला नेशनल लैंड सर्वे विभाग को लेना है कि गांव वालों की परेशानी को ध्यान में रखकर नाम बदलना है या नहीं. हालांकि, पूर्व में विभाग ने ऐसे ही एक Fjuckby गांव का नाम बदलने की मांग को खारिज कर दिया था. विभाग ने तर्क दिया था कि चूंकि ये नाम ऐतिहासिक है, इसलिए इसे बदला नहीं जा सकता.

Comments are closed.