तबलीगी जमात के सदस्यों के संपर्क में आए 22000 लोगों को किया गया क्वारंटाइन -गृह मंत्रालय

-जमात के सदस्यों में कोविड पॉजिटिव होने की संभावना के चलते लिया गया फैसला

नई दिल्ली, 4 अप्रैल (TSN)। निजामुद्दीन स्थित तबलीग ए जमात के मरकज से बाहर निकाले गए लोगों में कोरोना वायरस के संक्रमण पाए जाने से जहां दिल्ली में सनसनी फैल गई है। वहीं, मरकज से लौट कर देश के 17 राज्यों में फैल जाने वाले जमातियों के कारण समाज में बेचैनी का माहौल है। माना जा रहा है कि मरकज में ठहरे विदेशियों के संपर्क में रहने के चलते करीब 3 हजार जमाती भी संक्रमण का शिकार हो चुके हैं।
शनिवार को केंद्रीय गृह मंत्रालय की संयुक्त सचिव पुण्य सलिला श्रावास्तव ने बताया कि निज़ामुद्दीन से लौटकर देश के अलग अलग भागों में पहुंचे तबलीगी जमात के सदस्यों के कारण अन्य लोगों के संक्रमित होने की संभावना से इनकार नही किया जा सकता है। लिहाजा, तबलीगी जमात के सदस्यों व उनके संपर्क में आए करीब 22000 लोगों को क्वारंटाइन में रखा जा रहा है।
इसके साथ ही उन्होंने बताया कि गृह मंत्रालय के कंट्रोल रूम में कार्यरत 200 कर्मचारी चौबीसों घंटे स्थिति पर नजर बनाए हुए हैं। जबकि गृह सचिव, देश के सभी राज्यों और केन्द्र शासित प्रदेशों के सचिवों को चिट्ठी लिख कर लॉकडाउन के आदेश का अनुपालन सुनिश्चित करने के निर्देश दे चुके हैं। चिट्ठी के जरिये राज्यों से कहा गया है कि वे विभिन्न राहत शिविरों में रह रहे तमाम प्रवासियों के बाबत सभी जरुरी सुविधाएं उपलब्ध कराएं।
Leave A Reply