टीएमसी नेता पर बम से हमले के बाद भड़की हिंसा, बीरभूम में 10 को जिंदा जलाया

पूरे मामले की जांच लोकल पुलिस ने शुरू कर दी है

पश्चिम बंगाल के बीरभूम जिले में रामपुरहाट में टीएमसी नेता की हत्या के बाद टीएमसी कार्य़कर्ता काफी उग्र हो गए है और पूरे इलाके में हिंसा फैल गई. 10-12 घरों के गेट को बंद करके गुस्साई भीड़ ने उसमें आग लगा दी. इस आग में 10 लोग जिंदा जलकर मर गए. फिलहाल इलाके में जारी तनाव को देखते हुए बड़ी संख्या में अतिरिक्त पुलिस बलों की तैनात किया गया है. पूरे मामले की जांच लोकल पुलिस ने शुरू कर दी है. अभी तक की जांच में राजनीतिक रंजिश का मामला लग रहा है. 

मीडिया रिपोर्ट के अनुसार, सोमवार रात दमकल विभाग को आगजनी की सूचना मिली थी. मौके पर जब टीम पहुंची तो 10-12 घर जल चुके थे. कुल 10 लोगों के शव अभी तक निकाले गए हैं. टीम ने बताया कि 7 लोगों के शव एक ही घर से निकले.

रिपोर्ट के अनुसार, सोमवार को तृणमूल कांग्रेस के नेता और बरशल ग्राम पंचायत के उप प्रमुख भादु शेख का मर्डर कर दिया गया था. उन पर बम से हमला किया गया था. टीएमसी के कार्यकर्ताओं तक भादु की मौत की खबर जैसे ही पहुंची, वे उग्र हो गए. उनके सपोर्टर्स ने इसके बाद हमला करने वाले संदिग्धों के घरों में आग लगा दी. पुलिस भी इसे फिलाहल राजनीतिक रंजिश का मामला बता रही है, लेकिन आसपास के इलाके में तनावपूर्ण माहौल को देखते हुए मौके पर पुलिस फोर्स तैनात है. स्थिति को नियंत्रित करने की लगातार कोशिश की जा रही है.

Comments are closed.