UP MLC Election में बीजेपी की प्रचंड जीत, सपा का नहीं खुला खाता

बीजेपी के प्रत्याशी 9 सीटों पर निर्विरोध जीते थे.

उत्तर प्रदेश में हुए विधानसभा चुनाव में प्रचंड बहुमत के बाद बीजेपी ने एक बार फिर से जीत का परचम लहराया है. विधानसभा में बहुमत के साथ ही बीजेपी अब विधान परिषद में भी बहुमत हासिल कर चुकी है. प्रदेश में ऐसा 40 साल बाद हो रहा है, जब विधानसभा और विधान परिषद दोनों ही जगह किसी दल को प्रचंड बहुमत मिला है. इससे पहले 1982 में कांग्रेस को दोनों ही सदनों में बहुमत मिला था. 9 अप्रैल को 36 सीटों में से 27 सीट पर हुए चुनाव में बीजेपी को 24 सीटों पर जीत हासिल हुई है. तीन सीटों पर निर्दलीय प्रत्याशी जीते हैं. समाजवादी पार्टी का अभी खाता भी नहीं खुला. बीजेपी के प्रत्याशी 9 सीटों पर निर्विरोध जीते थे.

गौरतलब है कि बीजेपी के प्रत्याशी 9 सीटों पर निर्विरोध जीते थे. 27 सीटों के लिए 9 अप्रैल को मतदान हुआ था. मंगलवार को हो रही मतगणना में 27 में से 24 सीटों पर बीजेपी की जीत हुई है. तीन सीटों पर निर्दलीय जीते हैं. समाजवादी पार्टी का खता भी नहीं खुला. आलम यह है कि सपा के गढ़ आजमगढ़ में भी पार्टी तीसरे स्थान पर रही है. बीजेपी से निष्कासित यशवंत सिंह के बेटे विक्रांत सिंह रिशु ने यहां से निर्दलीय प्रत्याशी के तैर पर जीत दर्ज की है.

33 सीटों पर जीत के साथ ही बीजेपी को ऊपरी सदन में भी बहुमत मिल गया है. बीजेपी के पास मौजूदा समय में 100 में से 35 विधायक थे. 33 विधायकों की जीत के साथ ही यह संख्या 68 हो गई है जो कि बहुमत के आंकड़े 51 से कहीं जयादा है. समाजवादी पार्टी के मौजूदा समय में 17 विधायक हैं. विधानसभा में बहुमत मिलने के बाद अब सरकार को किसी भी विधेयक को पास करवाने में आसानी होगी.

Comments are closed.