यूपी सरकार को CJI ने फटकारा, पूछा- ये क्या रवैया है? आपकी कार्रवाई से हम संतुष्ट नहीं

आज उत्तर प्रदेश सरकार ने मामले की स्टेटस रिपोर्ट कोर्ट में फाइल कर दी है.

सुप्रीम कोर्ट में आज उत्तर प्रदेश के लखीमपुर खीरी में किसानों को कुचलने के मामले पर दूसरे दिन भी सुनवाई जारी है. आज उत्तर प्रदेश सरकार ने मामले की स्टेटस रिपोर्ट कोर्ट में फाइल कर दी है. कोर्ट को यूपी सरकार के वकील हरीश साल्वे ने बताया कि मुख्य आरोपी को पेश होने का नोटिस दिया गया है. उसने समय मांगा है. जिसके बाद कल सुबह 11 बजे तक का हमने समय दिया है. अगर तब तक आरोपी पेश नहीं हुआ तो कानून अपना काम करेगा.

सुप्रीम कोर्ट के चीफ जस्टिस एन वी रमना ने इसपर हरीश साल्वे से पूछा कि आरोपी को पेश होने के लिए अनुरोध करने की क्या ज़रूरत है? साल्वे ने जिसके बाद जवाब दिया कि अभी गोली के सबूत नहीं मिले हैं. तथ्य देखे जा रहे हैं. अगर सबूत साफ हों तो सीधे हत्या का केस बनेगा.

इसके बाद यूपी सरकार को चीफ जस्टिस रमना ने फटकार लगाते हुए कहा कि  बेंच का यह साझा मत है. हम ज़िम्मेदार सरकार चाहते हैं. अगर कोई आम आदमी आरोपी हो तो क्या यही रवैया रहेगा? यूपी सरकार के वकील साल्वे ने इसके बाद कहा कि गोली से मौत की पुष्टि नहीं हुई है.

Comments are closed.