मैनपुरी संसदीय सीट : सबसे बड़ी जीत के लिए ‘स्टार प्रचारक’ बने मुलायम के परिजन

वर्ष-2014 के लोकसभा चुनाव में जीत के बाद मुलायम ने छोड़ी थी मैनपुरी सीट

– दिनेश शाक्य

इटावा। नेता जी! मुलायम सिंह यादव को संसदीय चुनाव में देश की सबसे अधिक मतों से जीत दिलाने का रिकार्ड कायम करने के इरादे से मुलायम परिवार के सदस्य स्टार प्रचारक बन गये हैं। वैसे समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष और उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव मुलायम परिवार के सबसे बडेÞ स्टार प्रचारक हैं, लेकिन प्रो. रामगोपाल यादव, तेजप्रताप सिंह यादव, धर्मेंद्र यादव भी किसी स्टार प्रचारक से कम नहीं माने जाते हैं। क्योंकि यह राजनेता भी भीड़ जुटाने की क्षमता रखते हैं। 

होली के मौके पर मुलायम सिंह यादव के लिए मतदान करने की शुरू हुई अपील अब पूरी तरह से खुल करके चुनावी रंग में सामने आ गई है। परिवार का हर सदस्य मुलायम की सबसे बड़ी जीत के लिए जी-जान से जुट गये हैं। मुलायम के बेटे और समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष अखिलेश यादव खुद नेताजी की देश में सबसे बड़ी जीत के दिलाने के लिए कार्यकर्ताओं से अपील करते हुए कहते हैं, नेताजी मुलायम सिंह यादव की मैनपुरी संसदीय सीट पर देश की सबसे बड़ी जीत दिलाने में एकजुट होकर जी जान से लग जाएं। नेताजी ने लोगों के इतने काम किये कि आज उन कामों के एवज में कुछ बेहतर देने की बात आपकी तरफ से अगर कुछ हो सकता है, तो फिर उनको बड़ी और अच्छी जीत दी जाए। समाजवादी पार्टी प्रमुख राष्टÑीय महासचिव प्रो. रामगोपाल यादव कहना है कि संसदीय चुनावों में देश में नेताजी सबसे अधिक वोटों से जीत हो, सबकी चाहत है। नेताजी मैनपुरी में नामांकन कर चुके हैं, जिसमें भारी जनसमुदाय जुटा था।

टिकट से वंचित हो चुके मैनपुरी के मौजूदा सांसद और मुलायम सिंह के पौत्र तेज प्रताप सिंह का कहना है कि इस इलाके ने 1977 में मंत्री बनाकर नेताजी को आगे बढ़ाया। 1989 में मुख्यमंत्री बनाकर उनको और ताकत दी। इस समय देशभर में जनभावना समाजवादी पार्टी गठबंधन के साथ है। इसलिए देश की सबसे बड़ी जीत के लिए अभी से जुट जाएं।

मुलायम के भतीजे और बदायूं के सांसद धर्मेंद्र यादव का कहना है कि वह मैनपुरी के जनमानस को भलीभांति जानते हैं। इसलिए यहां की जनता नेताजी को ऐसा तोहफा जरूर देगी, जिसे हम सभी देश की सबसे बड़ी जीत के रूप मे आंक रहे हैं। नेताजी खुद ही मैनपुरी संसदीय सीट से चुनाव लड़ने की इच्छा जाहिर करके मैनपुरी वालों से अपने प्रेम का इजहार किया है। जाहिर है इस प्रेम का ऋण जनता चुका सकती है।

मुलायम के भतीजे और इटावा जिला पंचायत के अध्यक्ष अभिषेक यादव का कहना है कि नेताजी को रिकार्ड मतों से जीत दिलाने के लिए परिवार के सभी राजनीतिक सदस्य अपने अपने तरीके से लोगों के बीच गठबंधन के पक्ष में मतदान करने की अपील कर रहे हैं। 19 अप्रैल को गठबंधन की संयुक्त रैली मैनपुरी में हो रही है, जिसमे मायावती और मुलायम दोनों संबोधन को पहुंच रहे हैं।

प्रो.रामगोपाल यादव के बेटे और फिरोजाबाद के सांसद अक्षय यादव का कहना है कि चंूकि फिरोजाबाद से सटा हुआ ही मैनपुरी संसदीय सीट का इलाका शुरू हो जाता है। इसलिए नजदीकी और करीबियों को इस बात की सलाह दी जा रही है कि सभी नेताजी को रिकार्ड मतों से जीत दिलाने के लिए अभी से जुट जाएं।

समाजवादी पार्टी से अलग रास्ते पर चलते हुए प्रगतिशील समाजवादी पार्टी लोहिया का गठन कर चुके मुलायम के भाई शिवपाल और उनके बेटे आदित्य भी मुलायम की देश की सबसे बड़ी जीत का दावा कर रहे हैं। शिवपाल सिंह यादव का कहना है कि वो अपने बडेÞ भाई नेताजी को नामांकन से पहले ही बधाई दे आए हैं। लेकिन, उनके नामांकन में ना जाने की कुछ मजबूरियां भी हैं। इसके बावजूद वह और उनके समर्थक नेताजी को देश की सबसे बड़ी जीत दिलाने के लिए जी-जान से जुटे हुए हैं। 

मैनपुरी लोकसभा सीट जिन पांच विधानसभा क्षेत्रों को मिलकर बनी है, उनमें इटावा जनपद का सबसे महत्वपूर्ण विधानसभा क्षेत्र जसवंतनगर भी शामिल है। यह सपा का अभेद्य गढ़ माना जाता है। इसी विधानसभा क्षेत्र में मुलायम सिंह यादव का पैत्रिक गांव सैफई भी आता है, जो मैनपुरी के करहल विधानसभा क्षेत्र से महज पांच किलोमीटर की दूरी पर है। मैनपुरी, करहल, भौगांव, किशनी, जसवंतनगर विधानसभाओं को मिलाकर बनी इस ससंदीय सीट पर लोकसभा चुनाव काफी अहम रहेगा। 

मोदी लहर में 2014 के आम चुनावों में समाजवादी नेता मुलायम सिंह यादव को 595918 वोट मिले थे। इसी चुनाव में भाजपा के शत्रुघन सिंह चौहान को 231252 और बसपा की संघमित्रा मौर्य को 142833 वोट मिले थे। मुलायम सिंह यादव मैनपुरी के साथ साथ आजमगढ़ से चुनाव मैदान में उतरे थे। दोनों स्थानों से विजयी होने पर मुलायम ने मैनपुरी सीट छोड़ी तो उप चुनाव में अपने पौत्र तेज प्रताप सिंह यादव को चुनाव मैदान में उतारा। तेज को 653786, भाजपा के प्रेमसिंह शाक्य को 335537 वोट मिले थे। जहां मुलायम को 59.63 प्रतिशत वोट मिले, वहीं तेजप्रताप को 64.89 वोट हासिल हुए। 

21-मैनपुरी संसदीय सीट मतदाता : 

विधानसभा    कुल योग  पुरूष       महिला

107 मैनपुरी  331393  178656   152736

108 भोगांव  334453  179310    155143

109 किशनी  301512  163666   137846

110 करहल  358963  195254    163709

199 जसवंतनगर 3755953 203183 172755

Leave A Reply