विदाई शब्द ही होता है बेहद मार्मिक : बृजेश सिंह प्रिंसू

-गांधी जयंती के अवसर पर आयोजित समारोह में प्रबुद्ध जनों का किया गया सम्मान

मछलीशहर, (सत्यनारायण सिंह यादव)। गांधी जयंती के अवसर पर स्थानीय विकासखंड के राष्ट्रीय इण्टर मीडिएट कालेज सिरसी में शनिवार को एक कार्यक्रम आयोजित किया गया जिसमें दो सेवानिवृत्त अध्यापकों (बांकेलाल यादव एवं अवधेश नारायण) को स्मृति चिन्ह और शाल भेंट कर सम्मानित किया गया। समारोह के मुख्य अतिथि विधान परिषद सदस्य बृजेश सिंह प्रिंसू रहे।

उन्होंने अपने संबोधन में कहा कि विदाई शब्द ही बेहद मार्मिक होता है, चाहे किसी भी व्यक्ति को एक निश्चित समय पर सेवानिवृत्त होने पर विदाई की जाए या बेटियों को उनके घर से विदाई के समय। ये ऐसे क्षण आ जाते हैं, जब लोग भावुक हो जाते हैं। उन्होंने कहा कि इन गुरुओं को अपार पीड़ा होती होगी, क्योंकि जिन्होंने पूरा जीवन इस संस्था को लगा दिया और अपने तेजोमय वाणी से कितने बच्चों के जीवन को निखार कर उनके उच्चतम शिखर पर पहुंचा दिया ।

विशिष्ट अतिथि भाजपा जिला उपाध्यक्ष सुधाकर उपाध्याय ने कहा कि तीस वर्षो से लगातार दे रहे शिक्षा हर वर्ष कितने छात्र छात्राओं को शिक्षा के उन्नयन के लिए विदा करने वाले गुरू जब संस्था से कार्यकाल पूरा करके विदा होते हैं तो उनके लिए कोई शब्द नही बचता। इसके पहले कार्यक्रम का शुभारंभ मां सरस्वती के सामने द्वीप प्रज्जविलत कर एवं माहात्मा गांधी के चित्र पर माल्यार्पण कर किया गया। विद्यालय के प्रबंधक विनय सिंह ने प्रबुद्ध नागरिकों और अतिथियों का स्वागत अंगवस्त्रम और सरस्वती प्रतिमा देकर किया।

विद्यालय के अध्यापक सुरेन्द्र प्रताप सिंह ने कुल गीत एवं विदाई गीत गाकर लोगों को भाव विभोर कर दिया। वहीं, सांस्कृतिक कार्यक्रम के दौरान रविन्द्र सिंह ज्योति ने अपने टीम के साथ “सबसे निराला जौनपुर हुजूर ” के साथ विदाई गीत गाकर समा बांध दिया। अंत में प्रधानाचार्य राकेश सिंह आये हुए अतिथियों का आभार व्यक्त किया। इस अवसर पर अखिलेश तिवारी , रोहित यादव , घनश्याम मिश्रा, अजीत सिंह सहित छात्र /छात्रा एवं अभिवावक सहित सैकड़ों लोग उपस्थित रहे।

Comments are closed.