विधानसभा चुनाव में पंजाब में हिंसा फैलाने की नापाक कोशिश में पाकिस्तान

-पंजाब की शांतिपूर्ण चुनावी प्रक्रिया में सीमा पार से हिंसा और गड़बड़ी फैलाने की हर संभव कोशिश में जुटा पाकिस्तान

चंडीगढ़। पंजाब में शांतिपूर्वक चल रही चुनावी प्रक्रिया से पाकिस्तान सबसे ज्यादा परेशान नजर आ रहा है। सीमा पार से हिंसा और गड़बड़ी फैलाने की हर संभव कोशिश हो रही है। पाकिस्तान में बैठे आतंकी और उनके आका पंजाब में गड़बड़ी फैलाने के लिए जल,जमीन और आकाश से हर संभव कोशिश कर रहे हैं।

हालांकि पाक की नापाक कोशिश को नाकाम करने के लिए पंजाब पुलिस ने भी कमर कस रखी है। पंजाब विजिलेंस के मुख्य निदेशक और पुलिस नोडल अधिकारी ईश्वर सिंह बताया कि पाक की हर हरकत पर पैनी नजर रखी जा रही है। इसके लिए सीमा पर निगरानी बढ़ा दी गई है। पाकिस्तान की ओर से नशा और हथियार की तस्करी रोकने के लिए पंजाब पुलिस बीएसएफ और अन्य सुरक्षा एजेंसियों के साथ तालमेल बनाए हुए है।

इधर दूसरी ओर बीएसएफ ने अंतरराष्ट्रीय सीमा के नजदीक गांव हवेलियां के पास एक ड्रोन बरामद किया गया। यह छोटा ड्रोन चीन में बना बताया जा रहा है। थाना सराय अमानत खान के अंतर्गत गांव हवेलियां में टावर नंबर 124-27, 28 पर तैनात बीएसएफ की 71वीं बटालियन के जवानों ने पाकिस्तान से आ रहे ड्रोन को देखा। जवानों ने ड्रोन पर फायर कर उसे गिराया। इसकी तलाशी ली गई तो इस पर ईंट का टुकड़ा बंधा हुआ था।

सुरक्षा एजेंसियां मान रही है कि आतंकी ड्रोन को उड़ा कर यह देखने की कोशिश कर रहे थे कि यह कितना वजन और कितनी दूरी तक जा सकता है। सुरक्षा एजेंसियों के मुताबिक पाक की ओर से लगातार ड्रोन उड़ाए जा रहे हैं।क्षेत्र के डीएसपी बरजिंदर सिंह ने बताया कि नौशेरा ढला सीमा पर गांव हवेलियां निवासी जोगिंदर सिंह पुत्र गुरजीत सिंह पुत्र किसान के खेत में ड्रोन दुर्घटनाग्रस्त हो गया था। चीन में बने छोटे ड्रोन की बरामदगी की जांच शुरू कर दी गई है। सराय अमानत खां थाना प्रभारी निरीक्षक परमजीत सिंह विरदी ने बताया कि मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी गयी है।

दूसरी ओर नोडल अधिकारी ईश्वर सिंह ने बताया कि पुलिस बॉर्डर पर कड़ी नजर रखे हुए हैं। सीमा पर किसी भी तरह की गड़बड़ी को रोकने के लिए पूरी तैयारी की गई है। लगातार निगरानी की जा रही है। पंजाब पुलिस ब्यास और सतलुज नदियों में भी निगरानी तेज कर दी गई है। गहरे पानी के अंदर इस तरह के उपकरण लगाए गए हैं, जिससे किसी भी तरह की घुसपैठ का समय रहते पता लगाया जा सके। इसके साथ ही जहां गश्त संभव नहीं है, वहां पुलिस की ओर से भी ड्रोन तैनात किए गए हैं। पुलिस के सीनियर अधिकारियों ने बताया कि पंजाब चुना में पाक और वहां बैठे आंतकी गड़बड़ी फैलाने की हर संभव कोशिश करेंगे। जिसे रोकने के लिए पुलिस हर वक्त मुस्तैद है।

उन्होंने  बताया कि पिछले दिनों लुधियाना कोर्ट ब्लास्ट मामले की जांच में पता चला कि पाकिस्तान में आतंकी सिख फॉर जस्टिस (एसएफजे) के ऑपरेटिव जसविंदर सिंह मुल्तानी का हाथ है। इसकी जानकारी देने वाले को दस लाख रुपए का इनाम घोषित किया गया है। मुल्तानी मुंबई और भारत के अन्य हिस्सों में आतंकी हमले को अंजाम देने के लिए साजिश कर रहा है। वह वह पाकिस्तान की आईएसआई का एजेंट है।

जसविंदर सिंह मुल्तानी उर्फ जस, अजित सिंह के बेटे और होशियारपुर के गांव मंसूरपुर का रहने वाला है। वह “खालिस्तान समर्थक हैं, जो पंजाब में युवाओं को कट्टरपंथी बनाने के लिए प्रेरित करता है। युवाओं की भर्ती करने के लिए सोशल मीडिया का इस्तेमाल करता है। इसके साथ ही अपनी कट्टरवादी सोच को भी सोशल मीडिया के माध्यम से प्रचारिता करता है।

एनआईए ने कहा, “वह पंजाब में आतंकवाद को एक बार फिर से जिंदा करने के लिए पंजाब में तस्करी नेटवर्क का प्रयोग कर हथियार, गोला-बारूद और विस्फोटक खरीदने के फंड जुटाने की गतिविधियों में भी शामिल रहा है।”

Comments are closed.