2 महीने मे चौथी बार महँगा हुवा रसोई गैस

खाने का तेल से लेकर पकाने का गैस सिलिंडर तक सबकुछ हुवा महंगा, कया चाहती है सरकार गरीब आदमी जीना छोड़ दे?

Delhi : लगातार बढ़ रही महंगाई से लोग खासा परेशान है, जहा एक तरफ covid की वजह से लोगो की आय घट गई है वहीं दूसरी तरफ ना जाने किस स्पीड से सब्जी से लेकर खाना बनाने वाले सरसो तेल तक हर एक चीज तेजी से महंगा हो गया है। Covid की वजह से लोगो का जीना मुश्किल था और अब महंगाई की वजह से खाना पीना ओर जिन्दा रहना भी मुश्किल हो चला है।

बात करें रसोई गैस की तो तेल कंपनियां हर महीने एलपीजी सिलेंडर के दामों की समीक्षा करती हैं. देश की ऑइल मार्केटिंग कंपनियों ने 14.2 किलोग्राम वाले एलपीजी रसोई गैस सिलेंडर की कीमतों में 15 रुपये का इजाफा कर दिया है. वहीं 19 किलोग्राम वाले कमर्शियल गैस सिलिंडर के दाम में कोई बदलाव नहीं हुआ. जिसके बाद अब लोगों का किचन महंगा होने वाला है.

2 महीने से भी काम समय मे चौथी बार बढ़ा सिलिंडर का दाम

इस दो महीने से भी काम समय मे चौथी बार सिलिंडर महंगा हो चूका है। मोदी सरकार ने उज्जवल योजना के तहत औरतों को सिलिंडर तो दे रही है परन्तु खाली उसमे गैस भराने के पैसे तो वैसे भी नहीं है गरीबो के पास। गैर सब्सिडी वाला सिलेंडर एक सितंबर को 25 रुपये महंगा हुआ था. सब्सिडी वाले एलपीजी की कीमत में नवीनतम वृद्धि से एक जनवरी से अब तक प्रति सिलेंडर 205 रुपये महंगा हो गया है।

.दिल्ली और मुंबई में 14.2 किलोग्राम वाला गैर-सब्सिडी एलपीजी सिलिंडर 884.5 रुपये से बढ़कर 899.50 रुपये का हो गया है. पटना में अब एलपीजी सिलिंडर के लिए 1000 में से केवल दो रुपये कम चुकाने पड़ेंगे. कोलकाता में 926 रुपये और चेन्नई में 14.2 किलो वाला एलपीजी सिलिंडर 915.50 रुपये में मिलेगा.

Comments are closed.