World Mental Health Day 10th October 2021

The reason behind World Mental Health Day

World mental health Day:  आखिर क्या है यह वर्ल्ड मेंटल हेल्थ डे। क्यों पूरे विश्व में इस दिन को इतना खास समझा जाता है। चलिए आपको इस बारे में पूरी जानकारी देते हैं।

हर साल 10 अक्टूबर को दुनिया भर में वर्ल्ड मेंटल हेल्थ डे मनाया जाता है इसके पीछे का उद्देश्य होता है लोगों की मानसिक स्थिति को सुधारना। विकसित देशों में इस दिन का जितना महत्व है उतना महत्व अंडर डेवलपिंग कंट्रीज नहीं देते हैं। ऐसा इसलिए है क्योंकि यहां पर वैसे ही लोगों के का जीवन स्तर नीचे का है ऐसे में वो लोग मेंटल स्थिति को सुधारने के बारे में कैसे सोच सकते हैं। पर इसी रेस में आगे रहने वाले डेवलप्ड कंट्रीज ने यह ठाना है कि पूरे दुनिया में मेंटल यीशु को एक समान देखा जाएगा चाहे गरीब हो या अमीर सभी के साथ यह परेशानी आती है जिससे लोग पागलपन करार देकर दरकिनार कर देते हैं।

हमारे देश में अगर कोई कहे कि वह डिप्रेशन में है तो लोग हंसकर उसका मजाक उड़ाने लगता है उन्हें लगता है कि यह बंदा तो पागल हो गया अब इसे कोई मेंटल अस्पताल भेजो। हमारे देश में डिप्रेशन को कोई सब्जी नहीं दी जाती। वही दूसरे देशों में इसके विपरीत डिप्रेशन को सीरियस लेते हुए व्यक्ति को प्रॉपर ट्रीटमेंट प्यार सम्मान सब कुछ दिया जाता है। राखी वैक्सिंग डिप्रेशन में आकर कोई गलत कदम ना उठा ले। डिप्रेशन में आकर कई बार लोग सुसाइड तक कर लेते हैं इसी से बचाने के लिए लोगों को मेंटल हेल्थ के बारे में एजुकेट करना बेहद जरूरी है। डब्ल्यूएचओ पूरे देश नहीं अवेयरनेस प्रोग्राम चला रहा है।

World Mental Health Day is celebrated on 10th October every year in whole world. This time the theme of World Mental Health Day is unequal mental health. Mental health is very necessary for a human to to survive properly but in under developing country this is not valuable anymore then the developed countries. If someone said he has mental problem everyone starts laughing at him. People makes perception tha he/she become mad or lost mind. Here in developing countries like India depression means madness while in developed countries depression means mental health issues they considered it very carefully and gives a good treatment, care, love etc..

 

 वर्ल्ड मेंटल डे का इतिहास

कहा जाता है कि साल 1992 मैं वर्ल्ड फेडरेशन ऑफ मेंटल हेल्थ डे बाय रिचार्ज हंटर द्वारा लोगों में मेंटल हेल्थ को लेकर जागरूकता फैलाने के लिए  एक प्रोग्राम चलाया गया जिसे वर्ल्ड मेंटल हेल्थ डे के नाम से जाना जाता है। मेंटल हेल्थ डे का उद्देश्य है बीमार लोगों की सहायता करना उन्हें प्रोत्साहित करना और जीवन में आगे बढ़ाना।

पहली बार वर्ल्ड मेंटल हेल्थ डे कब मनाया गया था उस साल उसका इसका थीम था मेंटल हेल्थ सर्विसेज की क्वालिटी में सुधार। साल 1994 में किस दिन को पूरे 27 देशों में एक साथ मिलकर मनाया था। इस दिन का उद्देश्य यह भी है कि जो देश विकसित है वह थोड़ी इन्वेस्टमेंट कर गरीब देशों में मेंटल हेल्थ लेकर प्रोग्राम चलाएं और लोगों को इसके बारे में पूरी जानकारी दें।

 

History of World Mental Health Day

In 1992, the World Federation of Mental Healthled by Richard Hunter created World Mental Health Day to raise awareness of mental health issues in an attempt to eliminate the stigma attached and encourage people affected to seek out help and support.

The first World Mental Health Day was celebrated with the theme ‘Improving the Quality of Mental Health Services throughout the World’ in 1994 in 27 countries. As the years passed, more countries got involved and the perception of mental health became more synonymous with human rights.

The World Health Organization (WHO) has gotten on board with supporting World Mental Health Day to make this event an opportunity for increasing the investment made in the support of mental health.

Comments are closed.