एमिटी स्कूल के छात्र बने ई-पोस्टर व वर्चुअल प्रहसन प्रतियोगिता के विजेता

यकृत एवं पित्त विज्ञान संस्थान नई दिल्ली ने मनाया 23वां हेपेटाइटिस दिवस

नोएडा। लोगों को हेपेटाइटिस से बचाव के प्रति जागरूक करने के लिए यकृत एवं पित्त विज्ञान संस्थान नई दिल्ली (आईएलबीएस) की ओर से 23वां हेपेटाइटिस दिवस मनाया गया। उसमें दिल्ली एनसीआर के एमिटी इंटरनेशनल स्कूल के छात्रों सहित विभिन्न विद्यालयों के हजारों छात्रों ने ई-पोस्टर एवं वर्चुअल प्रहसन प्रतियोगिता में हिस्सा लिया गया। इन प्रतियोगिताओं में छात्रों को जागरूकता एवं हेपेटाइटिस के निवारक उपायों के महत्व को दर्शाना था। इस प्रतियोगिता में एमिटी इंटरनेशनल स्कूल साकेत के कक्षा 11वीं के छात्रों ने ई-पोस्टर प्रतियोगिता एवं एमिटी इंटरनेशनल स्कूल सेक्टर 06 वसुंधरा गाजियाबाद के कक्षा 8वीं के छात्रों ने वर्चुअल प्रहसन प्रतियोगिता में प्रथम स्थान प्राप्त किया। इसके अतिरिक्त एमिटी इंटरनेशनल स्कूल पुष्प विहार के कक्षा 8 एवं 9वीं के छात्रों ने वर्चुअल प्रहसन प्रतियोगिता में द्वितीय स्थान, एमिटी इंटरनेशनल स्कूल सेक्टर 46 गुरुग्राम के कक्षा 3 के छात्रों एवं एमिटी इंटरनेशनल स्कूल सेक्टर 01 वसुंधरा गाजियाबाद के कक्षा 01 के छात्रों ने ई-पोस्टर प्रतियोगिता में सांत्वना पुरस्कार प्राप्त किया।

यकृत एवं पित्त विज्ञान संस्थान नई दिल्ली द्वारा मनाये गये 23वें हेपेटाइटिस दिवस का थीम ‘वायरल हेपेटाइटिस इन कोविड टाइम्स’ था, जिसमें स्कूली छात्रों हेतु विशेष तौर पर ‘विद्यालयी छात्रों में हेपेटाइटिस जागरूकता’ पर वेब लेक्चर का आयोजन किया गया। कार्यक्रम में दिल्ली सरकार के उप-मुख्यमंत्री डा. मनीष सिसोदिया, स्वास्थय मंत्री डा. सत्येंद्र जैन, एमिटी शिक्षण समूह के संस्थापक अध्यक्ष डा. अशोक कुमार चौहान, यकृत एवं पित्त विज्ञान संस्थान नई दिल्ली के निदेशक डा. एसके सरीन, मुख्य सचिव विजय कुमार देव, अपोलो अस्पताल समूह के चेयरमैन डा. प्रताप रेड्डी और विभिन्न चिकित्सक, शिक्षक, छात्र ऑनलाइन उपस्थित थे।

दिल्ली सरकार के उप-मुख्यमंत्री डा. मनीष सिसोदिया ने हेपी स्कूल (हेपेटाइटिस एजुकेशन प्रोग्राम इन स्कूल) नामक विडियो रिलीज किया। उन्होंने कहा कि दिल्ली सरकार, यकृत स्वास्थय के प्रति जागरूकता फैलाने हेतु प्रतिबद्ध है। यकृत एवं पित्त विज्ञान संस्थान नई दिल्ली एवं डा. सरीन पिछले 23 वर्षों से हेपेटाइटिस से बचाव के प्रति लोगों को जागरूक करने का मिशन चला रहे हैं। हमें वृहद स्तर पर लोगों को जागरूक करने का कार्य करना होगा। डा. सिसोदिया ने कहा कि दिल्ली सरकार द्वारा डिजाइन किये गये नये पाठयक्रम में शारिरीक एवं मानसिक स्वास्थय पर विशेष ध्यान दिया जा रहा है।

Leave A Reply